समाचार

सीएम योगी आदित्यनाथ ने 11977.08 लाख की 85 योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया

  • 65
    Shares

5123 लोगों का पीएम आवास योजना का स्वीकृति पत्र दिया
मेडिकल कालेज में चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग के अफसरों के साथ बैठक की
गोरखपुर, 9 अगस्त। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज गोरखपुर के दौरे पर प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के 5129 लाभार्थियों में स्वीकृति पत्र बांटा और 11977.08 लाख की 85 योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। उन्होंने मेडिकल कालेज में गोरखपुर व बस्ती मंडल के स्वास्थ्य व चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने बीआरडी मेडिकल कालेज मेें 10 बेड के आईसीयू वार्ड व छह बेड के सीसीयू वार्ड का लोकार्पण किया।

7
मुख्यमंत्री ने सबसे पहले दीन दयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय में एक समारोह में प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के लाभाथियों में स्वीकृति पत्र बांटा। इस मौके पर उन्होंने कहा कि गोरखपुर मंडल में 51 हजार और गोरखपुर जिले में 41 हजार आवास बनाए जाएंगे। प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र में 10 लाख और शहरी क्षेत्र में दो लाख आवास बनाने का लक्ष्य है।

6
प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थी

उन्होंने इस मौके पर 5839.98 लाख की 9 परियोजना का लोकार्पण किया और 6137.10 लाख की 76 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इनमें मुख्य रूप से नगर निगम क्षेत्र के विभिन्न वार्डो में सड़क निर्माण, सेतु कार्य, भवन निर्माण, शाहपुर में रैन बसेरा, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कैम्पियरगंज 30 बेड मैटरनिटी विंग, मेडिकल कालेज में  फायर सिस्टम, एमएमएमयू में 40 कमरों का निर्माण, मुख्य प्राचीन कारागार, रकहट घाट के पुल का एप्रोच मार्ग, अवस्थापना निधि, 14 वें वित्त के धन से पेयजल, नाली निर्माण का कार्य शामिल है।

बीआरडी मेडिकल कालेज में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री इसके बाद जिला अस्पताल में भाजपा द्वारा आयोजित रक्तदान शिविर व रक्तसमूह डायरेक्टरी के विमोचन कार्यक्रम में शरीक हुए। उन्होंने शिविर में रक्तदान करने वाले 70 भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं को प्रशस्ति पत्र प्रदान किया। इस मौके पर उन्होंने 2000 पार्टी कार्यकर्ताओं के रक्त समूह के विवरण वाली डायरेक्टरी का विमोचन किया।
मुख्यमंत्री ने आज अपने दौरे का सर्वाधिक समय बीआरडी मेडिकल कालेज में दिया। उन्होंने इंसेफेलाइटिस वार्ड में मरीजों के इलाज की व्यवस्था देखी। इसके बाद सेमिनार हाल में गोरखपुर बस्ती मंडल के स्वास्थ्य व चिकित्सका विभाग के अफसरों के साथ बैठक की। बैठक में उन्होेंने इलाज के अभाव में किसी भी व्यक्ति की मौत न होने देने की बात कही। उन्होंने 102 और 108 एम्बुलेंस सेवा को और मजबूत करने को कहा। उन्होंने कहा कि यदि कोई भी मरीज रिक्शा या कंधे पर अपने मरीज को ले जाता पाया गया तो इसके लिए सीधे सीएमओ को जिम्मेदार माना जाएगा और कार्यवाही की जाएगी। मुख्यमंत्री ने इंसेफेलाइटिस प्रभावित परिवारों को प्राथमिकता के आधार पर शौचालय उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।
इस बैठक में अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा अनीता जैन भटनागर, प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास, प्रमुख सचिव राजस्व, प्रमुख सचिव पंचायती राज, गोरखपुर व बस्ती मंडल के कमिश्नर, गोरखपुर के डीएम, बीआरडी मेडिकल कालेज के प्राचार्य आदि मौजूद थे।

Add Comment

Click here to post a comment