जनपद

सीमा पर तैनात देश के बेटों की सलामती के लिये केसरी दम्पत्ति कर रहे दुआ

सिसवा बाजार (महराजगंज), 4 अक्तूबर। सिसवा कस्बे के अमरपुरवा निवासी ओमप्रकाश केसरी और उनकी पत्नी मंजू केसरी शारदीय नवरात्रि में नौ दिन का व्रत रह पूजा-पाठ कर भारत-पाक की सीमा पर तैनात भारतीय जवानों और एयरफोर्स में तैनात अपने दो बेटों की सलामती की दुआ कर रहे हैं।
ओमप्रकाश केसरी और मंजू केसरी ने बताया कि उनका बड़े बेटे सागर केसरी ने वर्ष 2010 में एयरफोर्स की परीक्षा पास किया जिसके बाद उसकी नियुक्ति फ़्लाइंग लेफ्टिनेंट के पद पर हुई थी। बड़े भाई को एयरफोर्स में देख छोटा बेटा सूरज ने भी एयरफोर्स में जाने का ठाना। और उसने भी 2014 में एयरफोर्स ज्वाइन कर लिया। केसरी दम्पत्ति ने बताया कि बड़ा बेटा सागर लेह लद्दाख में तैनात है जबकि छोटा बेटा सूरज गुजरात के नलिया स्थित एयर बेस में तैनात है। दोनों बेटे अक्टूबर माह में ही छुट्टी पर आने वाले थे। मगर उरी हमले के बाद उनकी छुट्टियां रद्द कर दी गयी हैं। उरी हमले के बाद भारत-पाकिस्तान में लड़ाई की सम्भावना बढ़ जाने से दोनों चिन्तित हैं। इसलिए केसरी दंपति बेटों की सलामती के लिये नवरात्रि में नौ दिन का व्रत रखकर माता दुर्गा की आराधना कर रहे हैं।

सागर और सूरज की एक बड़ी बहन भी है, जो ससुराल में रहकर अपने भाइयों की सलामती के लिये नौ दिन का व्रत रखा है। ओमप्रकाश ने बताया कि हम चाहते हैं कि इस व्रत का फल हमारे दोनों बेटों को मिले। और लड़ाई होने पर हमारे बेटे दुश्मनों के छक्के छुड़ाकर यह साबित कर दें कि भारत माँ के बेटे किसी से कम नहीं हैं। सोमवार को कलश स्थापित व माता की प्रतिमा के पास सागर और सूरज की सलामती के लिये केसरी परिवार के साथ मुहल्ले की विमला देवी, जूली केसरी, पूनम वर्मा, रूबी केसरी, हर्षित, अनु, श्रेया, श्रद्धा आदि ने भी पूजा पाठ कर प्रार्थना किया।⁠⁠⁠⁠