समाचार

सोहगीबरवां में मिले बाघ के पदचिन्ह

भोतहां के पिपरासी में एक साथ दिखे कई स्थानों पर मिले बाघ के पदचिन्ह का वन कर्मियों ने लिया नमूना
महराजगंज, 4 सितम्बर. सोहगीबरवा वन्य जीव प्रभाग के शिवपुर रेंज के ग्राम सभा भोतहां के टोला पिपरासी के निकट रविवार की सुबह एक बाघ का पद्चिन्ह देखा गया। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंचे वन अधिकारियों ने पद्चिन्ह के फोटो व पीओपी की मदद से नमूने भी लिये। जगंल में नये बाघ  की आगमन से वन विभाग काफी प्रसन्न है तो वहीं गांव के लोगों में भय व्याप्त है।
नेपाल के चितवन नेशनल पार्क, बिहार के बाल्मिकी नगर टाईगर रिजर्व से सटे सोहगी बरवां वन्य जीव प्रभाग के शिवपुर रेंज के ग्राम सभा भोतहां के टोला पिपरासी निवासी चन्द्रिका के खेत के निकट रविवार की अलसुबह आधा दर्जन से अधिक स्थानों पर बाघ के पदचिन्ह देखे गए।

शिवपुर रेंज के वन रक्षक वीरेन्द्र मणि त्रिपाठी ने बाघ के पदचिन्ह देखे जाने की सूचना रेजर अशोक चन्द्रा को दी। मौके पर पहुंचे वन अधिकारियों ने बाघ के पद चिन्ह की फोटो ग्राफी कराने के साथ ही पीओपी की मदद से पद चिन्ह के नमूने भी लिये।

बाघ के पदचिन्ह 2

खेतों में एक साथ दर्जनों स्थानों पर मिले बाघ के पदचिन्ह देख ग्रामीण सहमे हुये है।बाघ  की दस्तक से वन विभाग जहा काफी खुश है वही ग्रामीणों में भय है।
बताया जा रहा है कि शिवपुर रेंज में पहले से ही एक विकलांग बाघ मौजूद है।इसके अलावा अपने दो शावकों के साथ एक मादा बाघ भी अक्सर शिवपुर रेंज के जंगलों में दिखती है।
इस सबंध में रेंजर अशोक चन्द्रा का कहना है कि बाघ के पद चिन्ह मिले हैं जो विभाग के लिये एक अच्ही खबर है। हम उसकी मूवमेंट ट्रेस करने को लेकर आवश्यक कदम उठा रहे है।हमारा पूरा प्रयास है कि सोहगी बरवा जगंल में आये जंगल के राजा को यहां बेहतर माहौल दें ताकि वह इस क्षेत्र को अपना नया ठौर बनाये।इसके साथ ही लोगों से जंगल में बेवजह न जाने की अपील की गयी है।

Add Comment

Click here to post a comment