जनपद

⁠⁠⁠पोस्टमार्टम में देरी के कारण तीसरे दिन हुआ चन्द्रशेखर का अंतिम संस्कार

सिसवा बाजार (महराजगंज), 27अगस्त। गुरुवार को चन्द्रशेखर की बदमाशों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी. पोस्टमार्टम में देरी कारण शनिवार को तीसरे दिन बीजापार के खेड़ाखड़ा नाला पर उसका अंतिम संस्कार हो पाया।
बहन की शादी के बात कर कसया से अपने मित्र के साथ घर वापसी में सिसवा कस्बे के प्रेमचित्र मंदिर के सामने  चन्द्रशेखर उर्फ़ छोटू को गुरुवार की रात 10:45 बजे तीन बाइक सवार बदमाशो ने गोली मार दिया था। सिसवा पीएचसी के चिकित्सकों द्वारा रेफर करने के बाद इलाज के लिए गोरखपुर मेडिकल कालेज पहुँचते ही रात में 2 बजे उसकी मौत हो गई थी। कागज़ी कार्यवाही व मुख्यमंत्री के शहर में  आने से डॉक्टरों की वीआईपी डयूटी के कारण परिजनों को काफी समस्याओं व परेशानियों  का सामना करना पड़ा।

चंद्रशेखर के चचेरे भाई दिनेश मद्धेशिया ने बताया कि पोस्टमार्टम के लिए औपचारिकताएं पूरी करने में शुक्रवार का पूरा दिन खत्म हो गया। जब पेपर पूरे हुए तो डॉक्टर मुख्यमंत्री के आने से वीआईपी डयूटी में चले गए।एक शुभचिंतक की सलाह पर जिलाधिकारी से प्रार्थना पत्र दे कर पीएम के लिए गुहार लगाने के बाद भोर में तीन बजे पीएम किया गया परन्तु चन्द्रशेखर को लगी गोली उसके शरीर में नही मिल पा रही थी।इसके बाद शव को सदर हॉस्पिटल ले जाकर सीटी स्कैन कराने के बाद पता चला की गोली सरक कर जांघ में चली गई है।उसके बाद पुनः शनिवार को 10 बजे दोबारा पीएम करने के बाद शव को परिजनों के सपुर्द किया गया। सायं 5 बजे के करीब खेखड़ा नाला स्थित अंत्येष्टि स्थल पर अंतिम संस्कार कर दिया गया।

 जाँच के लिए ईश्वर को कसया ले गयी पुलिस

चंद्रशेखर के मित्र ईश्वर ने अपने बयान में चन्द्रशेखर के साथ एक बजे दिन से लेकर रात में हत्या की घटना  होने तक जो बातें बताई है उसकी सत्यता की जाँच के लिए कोठीभार पुलिस ईश्वर को कसया ले गई। सूत्रों की माने तो पुलिस कुछ हद तक इस मामले की तह तक पहुंच गई है।सीसी टीवी फुटेज के आधार पर इस घटना में सफ़ेद रंग  की बाइक के प्रयोग की भी चर्चा है वही पुलिस को मृतक के मोबाईल से भी कुछ जानकारी हाथ लगने की बात चल रही है।नगर के लोगो को इस हत्या कांड के जल्द खुलासे की इंतज़ार है।

Leave a Comment