Templates by BIGtheme NET
Home » समाचार » 10-11 फरवरी को गोरखपुर में होगा साहित्य समागम, सीएम करेंगे उद्घाटन
glf-3

10-11 फरवरी को गोरखपुर में होगा साहित्य समागम, सीएम करेंगे उद्घाटन

गोरखपुर, 31 जनवरी। अब गोरखपुर में भी लिटरेरी फेस्टिवल होने जा रहा है. महराजगंज के सांसद रहे समाजवादी नेता हर्षवर्धन की स्मृति में बने हर्षवर्धन फाउंडेशन द्वारा 10 व 11 फरवरी को  गोरखपुर लिटरेरी फेस्टिवल ( गोरखपुर साहित्य समागम) का आयोजन किया जा रहा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 10 फरवरी को संवाद भवन ( गोरखपुर विश्वविद्यालय) में इसका उद्घाटन करेंगे।

यह जानकारी हर्षवर्धन फाउन्डेशन के अध्यक्ष आनन्द वर्धन सिंह ने आज पत्रकार वार्ता में दी. उन्होंने बताया कि अब तक देश में जितने भी साहित्य समागम हो रहे हैं उनमें अंग्रेजी का बोलबाला रहता है जिसके कारण आमजन तक ऐसे समागम पहुंच नहीं बना पा रहे हैं। साहित्य और सामाजिक सरोकारों को आमजन से जोड़ने के उद्देश्य से गोरखपुर साहित्य समागम का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पूर्व सांसद व वरिष्ठ राजनेता स्वर्गीय हर्षवर्धन की स्मृति में हर्षवर्धन फाउण्डेशन की स्थापना की गई है . यह संस्था पूर्वी उत्तर प्रदेश के साथ साथ पूरे प्रदेश में जनसेवा, क्षमतावर्धन, जन-जागरण, नि:शक्तों को विधिक परामर्श तथा सहयोग देने के साथ-साथ साहित्य के क्षेत्र में सक्रिय भूमिका निभाएंगी।

glf

श्री सिंह ने कहा कि गोरखपुर साहित्य समागम के विशेष सत्रों में प्रमुख रूप से सार्क भाषाओं को सम्मलित करते हुए नेपाली भाषा पर सत्र, भारतीय भाषाओं में बांग्ला, छात्र राजनीति तथा भारतीय सेना व साहित्य के सम्बंध को समर्पित सत्रों के साथ साथ गीता प्रेस, साहित्य समागमों को व्यापक व उपयोगी बनाने , कवि सम्मलेन और मुशायरों का वर्तमान स्वरूप, आधुनिक संगीत का साहित्य से सम्बंध, भाषा में हिंग्लिश तथा टेलीग्रैफिक शब्दों का प्रयोग और अंग्रेजी साहित्य पर देश के वरिष्ठ वक्ताजन परिचर्चा करेंगें। उन्होंने बताया कि संवाद भवन प्रांगण में पुस्तक विमोचन कार्यक्रम के साथ हस्तशिल्प एवं साहित्यिक पण्डाल सजेंगे और 11 फरवरी को सांयकाल 6 बजे से रागरंग नामक कवि सम्मेलन- मुशायरे का आयोजन किया जा रहा है जिसमें देश के मशहूर कवि और शायर भाग लेंगे। गोरखपुर साहित्य समागम में भाग लेने वाली देश की बड़ी हस्तियों की जानकारियां देते हुए बताया कि अभिनेता राजा बुंदेला, गीतकार प्रसून जोशी, सारेगामापा फेम मशहूर निर्माता-निर्देशक गजेन्द्र सिंह, उर्दू साहित्यकार शारिब रूदौलवी, लेखिका विद्या बिंदु सिंह, लोकगायिका मालिनी अवस्थी, राजनैतिक विश्लेषक शांतनु गुप्ता, अवध संस्कृति के विशेषज्ञ नवाब मीर जाफर अब्दुल्ला, वरिष्ठ पत्रकार राहुल देव, शिक्षाविद् व समाजसेवी डॉ निशी पाण्डेय, रेमन मैग्सेसे पुरस्कार विजेता डॉ संदीप पाण्डेय, भारतीय सेना विशेषज्ञ मारूफ रज़ा, मेजर जनरल एम एस जसवाल, सूबेदार योगेन्द्र सिंह यादव (परमवीरचक्र विजेता), करूणा पाण्डेय, आईपीएस विनोद मल्ल, रविन्द्र श्रीवास्तव (जुगानी भाई), मनीष शुक्ला, यशवंत सिंह, लाल मनी त्रिपाठी, फूल चंद प्रताप गुप्त, राज मनी पाण्डेय, विश्वकर्मा द्विवेदी, शीतला पाण्डेय, राम सिंह, राधेश्याम सिंह के साथ बांग्ला साहित्यकार डॉ रामकुमार मुखोपाध्याय, पी के लाहिड़ी, नेपाली साहित्यकार डॉ मनप्रसाद सुब्बा, डॉ योगाचार्य जी एन सरस्वती विभिन्न सत्रों में परिचर्चा करेंगे। श्री सिंह ने कहा कि अधिक जानकारी के लिए गोरखपुर साहित्य समागम की वेबसाइट www.gorakhpurlitfest.com को देखा जा सकता है.
पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए आनन्द वर्धन सिंह ने बताया कि गोरखपुर साहित्य समागम की संरक्षक समिति में साहित्य अकादमी के अध्यक्ष डॉ विश्वनाथ प्रसाद तिवारी, उ०प्र० हिन्दी संस्थान के अध्यक्ष प्रो० सदानंद गुप्त, गोरखपुर विश्वविद्यालय में हिन्दी विभागाध्यक्ष डॉ चितरंजन मिश्र, सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्स अॉफ इण्डिया के महानिदेशक डॉ ओंकार राय, पेट्रोनेट एलएनजी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक प्रभात सिंह तथा सेवा निवृत ले० जनरल आर पी शाही के निर्देशन में दो दिवसीय विशाल कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। साहित्यकार श्रीलाल शुक्ल को समर्पित प्रथम दिवस राग दरबारी के रूप में आयोजित किया जाएगा और समागम के दूसरे व अंतिम दिन मुंशी प्रेमचन्द को समर्पित रंगभूमि दिवस आयोजित करने के बाद कार्यक्रम का समापन केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री मंत्री शिव प्रताप शुक्ल करेंगे.

About गोरखपुर न्यूज़ लाइन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*