समाचार साहित्य - संस्कृति

14 स्कूलों में एक हजार से अधिक बच्चों के बीच हुआ प्रेमचन्द की कहानियों का पाठ

  • 12
    Shares

‘ गोरखपुर में प्रेमचन्द: शताब्दी स्मरण ’ श्रृंखला का आगाज
गोरखपुर, 19 अगस्त। महान कथाकार प्रेमचन्द के गोरखपुर आने के 100 वर्ष पूरे होने के मौके पर आयोजित ‘ गोरखपुर में प्रेमचन्द: शताब्दी स्मरण ’ कार्यक्रम मंे आज गोरखपुर के 14 स्कूलों में सैकड़ों बच्चों के बीच प्रेमचन्द की कहानियों का पाठ हुआ। माडल गल्र्स इंटर कालेज के छात्र-छात्राओं ने प्रेमचन्द की कहानी ‘ बूढ़ी काकी ’ का मंचन भी किया।

d0fc1a34-6af3-4a52-93a9-9767d4aaba8f

प्रेमचन्द साहित्य संस्थान, अलख कला समूह और गोरखपुर फिल्म सोसाइटी ने गोरखपुर में प्रेमचन्द के आने के 100 वर्ष पूरे होने पर पूरे वर्ष कार्यक्रमों की श्रृंखला शुरू की है। इसके तहत स्कूलों से अपील की गई थी कि वे अपने यहां छात्र-छात्राओं के बीच प्रेमचन्द की कहानी का पाठ रखे। इस अपील का तमाम स्कूलों ने समर्थन करते हुए आज अपने यहां कार्यक्रम आयोजित किए। इन कार्यक्रमों में एक हजार से अधिक छात्र-छात्राओं ने भागीदारी की।

RAMPUS CELEBRATE   MUNSHI PREMCHAND  100 YEARS IN GKP  (4) (1)

जिस स्कूल में प्रेमचन्द पढ़े रावत पाठशाला थे और जिसमें उन्होंने पढ़ाया था, वहां जाकर सुजीत श्रीवास्तव सोनू और राहुल कुमार वर्मा ने उनकी दो कहानियों ‘ ईदगाह ’ और ‘ बालक’ का पाठ किया।
माडल गल्र्स इंटर कालेज के छात्र-छात्राओं ने प्रधानाचार्य कुमकुम भारती के निर्देशन में प्रेमचन्द की कहानी ‘ ईदगाह ’ का पाठ किया और ‘ बूढ़ी काकी ’ का मंचन भी किया।

3cce04b5-a957-4cd7-9720-8097a4cb4d25
पटेल स्मारक इंटर कालेज में कहानी सुनती छात्राएं

रैम्पस इंटर कालेज में हिन्दी की सभी कक्षाओं में शिक्षकों ने प्र्रेमचन्द के जीवन के बारे में बताया और कहानी ‘ ईदगाह ’ का पाठ किया।
पटेल स्मारक इंटर कालेज भटहट में प्रधानाचार्य श्रीनिकेत शाही, शिक्षक आनन्द पांडेय की उपस्थिति में सैकड़ों छात्र-छात्राओं के बीच ‘ मंत्र ’ कहानी का पाठ हुआ। छात्रा ज्योति जायसवाल ने कहानी पढ़ी। प्रधानाचार्य श्रीनिकेत शाही ने सद्गति, पूस की रात, दो बैलों की कथा, ईदगाह कहानी पर चर्चा की और कहा कि प्रेमचन्द भारतीय समाज के सबसे ईमानदार चित्रण करने वाले साहित्यकार हैं। इस मौके पर अध्यापक रामसमुख, डा धर्मेन्द्र सिंह, सतीश उपाध्याय, बैजनाथ पांडेय, विश्व प्रकाश सिंह, विजय प्रकाश, अनिल कुमार आदि उपस्थित थे।

213f8646-885e-4e61-bc54-f674fc8de9c9

रसूलपुर स्थित विकास प्राईमरी स्कूल में बच्चों ने ही बच्चों के बीच प्रेमचन्द की दो कहानियों -दो बैलों की कथा और बड़े भाई साहब का पाठ किया। उल्लेखनीय है इस विद्यालय में बड़ी संख्या में बुनकरों के बच्चे पढ़ते हैं।

इन विद्यालयों में हुआ कहानी पाठ
1. माडल गल्र्स इंटर कालेज, गंगा नगर बशारतपुर में ईदगाह का पाठ और बूढी काकी का मंचन
2. रैम्पस , राप्तीनगर में हिन्दी की सभी कक्षाओं में प्रेमचन्द की जीवनी और कहानी ईदगाह का पाठ
3. प्राथमिक विद्यालय रावत पाठशाला में ईदगाह का पाठ
4. प्राथमिक विद्यालय बनकटी चक में ईदगाह और बालक का पाठ
5. आदर्श प्राथमिक विद्यालय नार्मल में ईदगाह और बालक का पाठ
6. विकास प्राइमरी स्कूल रसूलपुर में दो बैलों की कथा और बड़े भाई साहब का पाठ
7. पटेल स्मारक इंटर कालेज भटहट में कहानी मंत्र का पाठ
8-प्राथमिक विद्यालय अलहादपुर में ईदगाह और बालक का पाठ

 

27080947-d6da-4288-b788-09aa3433b25d

इसके अलावा ग्रीन लांस स्कूल ऊंचवा , माडल जूनियर स्कूल घासीकटरा,.माडल नर्सरी स्कूल , घासीकटरा, एंजिल प्ले वे स्कूल राजी रौजा,एंजिल जूनियर हाईस्कूल राजी रौजा और माडल गर्ल्स जूनियर हाई स्कूल में प्रेमचन्द की कहानियों का पाठ किया गया।

Add Comment

Click here to post a comment