जनपद

आधार से लिंक न होने के कारण 13760 कृषकों का कर्ज माफ़ होने में देरी

  • 10
    Shares

गोरखपुर. गोरखपुर जिले में 25815 लघु व सीमान्त एन.पी.ए. खाते वाले कृषकों में से अभी तक सिर्फ 1361 कृषकों का 1.42 करोड़ का ही ऋण मोचित हो पाया है।

जिलाधिकारी के0 विजयेन्द्र पाण्डियन ने बताया कि  जनपद में 25815 लघु व सीमान्त एन.पी.ए. खाते वाले कृषकों का लगभग 21.42 करोड़ रू0 फसली ऋण मोचित किये जाने की कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने बताया कि इनमें से 13760 कृषकों के एन.पी.ए. खाते आधार से लिंक न होने के कारण इनका ऋण मोचन नही हो पा रहा है।
उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त कुछ कृषकों के खाते एंव आधार कार्ड में अंकित नाम में भिन्नता होने के कारण भी इनका ऋण मोचन नही हो पा रहा है। उपरोक्त समस्याओं के दृष्टिगत शासन से प्राप्त निर्देश के क्रम में इस समय आधार से छूटे एन.पी.ए. खातों में आधार की प्रवष्टि तथा नाम में भिन्नता को दूर करने की कार्यवाही सभी संबंधित बैंक शाखाओं द्वारा किया जा रहा है।
उन्होंने किसानों से अपील की कि वे तत्काल अपने बैंक शाखा से सम्पर्क कर अपने एन.पी.ए. फसली ऋण खाते को आधार कार्ड से लिंक करा लें तथा यदि नाम में अन्तर हो तो उसे ठीक करा लें ताकि यथाशीघ्र उनके ऋण मोचन की कार्यवाही की जा सके।
उन्होंने कहा कि बिना आधार वाले खाता धारको को सूची सभी बैंक शाखाओं/जिला सहकारी बैंक लि0/संबंधित तहसीलों/उप सम्भागीय कृषि प्रसार अधिकारी के कार्यालयों तथा जिला कृषि अधिकारी व उप कृषि निदेशक के कार्यालय में उपलब्ध है। तहसील व कृषि विभाग के क्षेत्रीय कर्मचारी संबंधित कृषकों को को इसकी सूचना दे रहे है। उन्होंने किसानों से अपील किया है कि वे उपरोक्त कार्यालयों में उपलब्ध करायी गयी सूची का अवलोकन कर जानकारी प्राप्त कर लें। यदि किसान अपना आधार कार्ड अपने एन.पी.ए. ऋण खाते से लिंक नही कराते है तो वे इस योजना के अन्तर्गत लाभ पाने से वंचित हो सकते है।