समाचार

29.72 करोड़ बकाये गन्ना मूल्य को लेकर कुर्क हुई जेएचवी शुगर मिल की संपत्ति 

-एसडीएम और तहसीलदार ने प्लांट को कुर्क कर महाप्रबंधक उत्पादन की अभिरक्षा में किया सुपूर्द
महाराजगंज, 7 अप्रैल। किसानों का बकाया गन्ना मूल्य भुगतान न करना मिल प्रबंधन को महगां पड़ गया है।नयी सरकार ने मिलों पर नकेल कसना प्रारंभ कर दिया है मंगलवार को जिलाधिकारी के आदेश पर एसडीएम व तहसीलदार  चीनी मिल पहुंच कर मिल की चल संपत्ति कुर्क कर करते हुये मिल के महाप्रबंधक उत्पादन विनोद कुमार सिंह की अभिरक्षा में सुपुर्द की गई।
वर्ष 2014-15 के बकाये गन्ना मूल्य भुगतान को लेकर लम्बे समय से मिल प्रबंधन द्धारा आनाकानी की जा रही थी। भाजपा की सरकार बनने के बाद मिल को भुगतान को लेकर कई बार आदेश निर्देश दिया गया बावजूद इसके मिल द्वारा भुगतान न किये जाने से नाराज जिलाधिकारी ने शासन के आदेश के क्रम में मंगलवार को मिल की सम्पत्ति को कुर्क करने का आदेश उपजिलाधिकारी को  दिया जिसके बाद एसडीएम ज्ञानेश्वर प्रसाद ने अध्याशी जेएचवी शुगर लिमिटेड गड़ौरा के विरुद्ध गन्ना बकाया मूल्य 29 करोड़ 72 लाख 45 हजार रुपए की वसूली हेतु मिल परिसर में स्थित चीनी मिल का संपूर्ण प्लांट की कुर्की का आदेश निर्गत करते हुये तहसीलदार केशव प्रसाद साथ दोपहर करीब ढेड बजे चीनी मिल पहुंच कर मिल के प्लांट को कुर्क करते हुये चीनी मिल के महाप्रबंधक विनोद कुमार सिंह की अभिरक्षा में सुपुर्द कर दिया।

इसके पहले भुगतान न करने के कारण चीनी मिल पर आरसी भी जारी की गई थी फिर भी चीनी मिल ने भुगतान मेन रुचि नहीं दिखाई ।
इस अवसर दौरान कोतवाली ठूठीबारी प्रभारी वीरेंद्र विक्रम सिंह ,प्रभारी जिला गन्ना अधिकारी आरके पाठक, मिल मैनेजर एस के शुक्ला, ललित कुमार श्रीवास्तव, एन के सिंह महाप्रबंधक इंजीनियरिंग सहित मिल के अन्य अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे।

Leave a Comment