स्वास्थ्य

देवरिया में क्षयरोग खोजी अभियान में 763 संभावित मरीजों की जांच

 41 मरीजों की बलगम एक्सरे जांच मिली पाजिटिव , इलाज शुरू

देवरिया, क्षय रोग पर नियंत्रण करने के लिए 11 जून से जिले में संचालित टीबी रोगी खोजी अभियान में टीमें घर-घर जाकर संदिग्ध टीबी मरीजों की खोज कर रहीं हैं. जाँच के बाद अब तक 41 टीबी के मरीज मिले हैं। इन मरीजों का इलाज भी विभाग ने शुरू कर दिया है.

जिला क्षय रोग अधिकारी ने डॉ बी झा ने बताया कि अभियान के तहत अब तक 763 संभावित लक्षणों वाले लोगों का बलगम जांच की गई. जिसमें 35 बलगम के पॉजिटिव रोगी व 6 एक्सरे पॉजिटिव मरीज समेंत कुल 41 लोगों में टीबी रोग के लक्षण पाये गये. इन लोगों को इलाज शुरू कर दिया गया है. उन्होंने बताया कि जनपद में 11 जून से सक्रिय क्षय रोग खोज अभियान की शुरुआत की गयी है. इस अभियान में इस बार कुल 10 प्रतिशत आबादी को लक्षित किया गया है जो भी संदिग्ध मरीज मिलेगा, टीम उसका मौके पर ही नमूना लेगी. इसके बाद दूसरी सुबह खाली पेट उस  मरीज के बलगम का दूसरा नमूना लिया जाएगा, जिसकी जांच जिला टीबी यूनिट में की जाएगी. टीबी रोग की पुष्टि होने के बाद मरीजों का नि:शुल्क उपचार शुरू होगा. इसके साथ ही जो भी प्राइवेट चिकित्सक, आशा, एएनएम किसी टीबी के संदिग्ध मरीज को रेफर करता है तो उनको प्रोत्साहन राशि दी जाएगी. डा झा ने टीबी के लक्षण के बारे में बताते हुए कहा कि दो सप्ताह या उससे अधिक समय से लगातार खाँसी का आना, खाँसी के साथ बलगम का आना, बुखार आना (विशेष रूप से शाम को बढ़ने वाला), वजन का घटना, भूख कम लगना, सीने में दर्द, सोते समय पसीने आना, बलगम के साथ खून आना आदि इसके मुख्य लक्षण हैं. उन्होंने सभी लोगों से सहयोग की  अपील की है कि वह भ्रमण कर रही टीम द्वारा घर के सभी सदस्यों की स्क्रीनिंग कराये जिससे टीबी के मरीजों में निरंतर कमी लायी जा सके.

 

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz