बैलेट पेपर से चुनाव करने की मांग को लेकर जुलूस , प्रदर्शन

गोरखपुर , 22 अप्रैल। भारत मुक्ति मोर्चा, पूर्वाञ्चल सेना , अम्बेडकरवादी छात्रसभा , बहुजन मुक्ति पार्टी आदि संगठनों ने 21 अप्रैल को संयुक्त रूप से जुलूस निकाल प्रदर्शन किया और चुनाव ईवीएम के बजाय बैलेट पेपर से कराने की मांग की।

रैली नार्मल ग्राउण्ड से जिलाधिकारी कार्यालय तक निकली गई। इस दौरान ईवीएम के विरुद्ध जुटे लोगो के हुजूम ने चुनाव आयोग के विरुद्ध जबरदस्त नारेबाजी की और हर हाल में अपनी मांगे पूरी करने की मांग की । इस प्रदर्शन रैली में शामिल लोग शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुए लोग जिलाधिकारी कार्यालय पहुचे जहाँ ईवीएम हटाकर बैलेट पेपर से चुनाव कराए जाने व 8 अक्टूबर 2013 को माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अहवेलना करते हुए बिना वीवीपीएटी के कराए गए चुनावो को रद्द करा , चुनाव आयोग पर कार्यवाही करने की मांग को लेकर जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौपा गया ।
जुलूस का नेतृत्व डॉ एस अकमाल व दिलीप सुमन ने संयुक्त रूप से किया । इस दौरान मीडिया कर्मियों से बात करते हुए पूर्वांचल सेना के अध्यक्ष धीरेन्द्र प्रताप ने बताया कि भारत मुक्ति मोर्चा के साथ देश में लोकतंत्र व निष्पक्ष, पारदर्शी चुनाव प्रक्रिया के हिमायती संगठनों ने राष्ट्रव्यापी लोकतंत्र बचाओ आंदोलन के प्रथम चरण में देश के 550 जिलो में विगत 25 26 27 मार्च को धरना प्रदर्शन किया था , लेकिन आयोग पर कोई कार्यवाही नही हुई और न ही ईवीएम हटाने का कोई निर्णय लिया गया । आज आंदोलन के दूसरे चरण में प्रदर्शन रैलियों के माध्यम से राष्ट्रपति को पुनः अपनी मांगों से अवगत कराया गया है। यदि तय समयावधि के अंदर मांगे नही मानी जाती है तो आंदोलन के अगले चरण में देश भर में नेशनल हाइवे को 24 घंटों के लिए जाम किया जाएगा ।
अम्बेडकरवादी छात्रसभा के अध्यक्ष अमर सिंह पासवान ने कहा कि चुनाव आयोग ईवीएम के लिए वीवीपीएटी लगवाने की बात कर रहा है, जो कि अत्यंत खर्चीला है। कागज बचाने के लिए ईवीएम प्रयोग में लाया गया था और वीवीपीएटी में भी कागज का प्रयोग होना है, इस नाते खर्च बचाने के लिए और चुनावो में पारदर्शिता लाने के लिए बैलेट पेपर लाना ही होगा । ईवीएम से हाल के चुनावों में हुई गड़बड़ियों से जनता में चुनावो के प्रति घोर अविश्वास उत्पन्न हो गया है। लोगो का चुनाव में विश्वास बने रहने और लोकतंत्र की मजबूती के लिए ईवीएम को हटाना ही होगा । इसके लिए हमने चरणबद्ध आंदोलन शुरू कर दिया है और अपनी मागों को मानाने के लिए सरकार को मजबूर कर देंगे ।
इस अवसर पर प्रमुख रूप से सचिन पासवान, पुष्पा वर्मा, अन्नपूर्णा देवी, वसुन्धरा यादव, सरिता देवी, वकील निषाद, बहादुर निषाद, गणेश शंकर सैथवार, जगदीश नारायण, एड0 अनिल कुमार, एड0 विक्रम दास, एड0 सीपी पासवान, संजय गौंड़, गजानंद, दीपक पासवान, सचिदानंद यादव, अतीकुर्रहमान, राजनाथ कन्नौजिया सुभान अली , रामप्रीत जख्मी, असलम खान, बलमुकुंनद वर्मा, विजय कन्नौजिया, मंजेश कुमार आदि मौजूद रहे।

 

Leave a Comment

Skip to toolbar