समाचार

सीएम से मिलने जा रहीं बीटीसी छात्राओं पर पानी की बौछार, छात्रों पर लाठीचार्ज

  • 205
    Shares

गोरखपुर। बीटीसी चतुर्थ सेमेस्टर की निरस्त परीक्षा एक सप्ताह के अंदर कराने तथा नवम्बर में होने वाली टीईटी परीक्षा की तिथि एक माह बढ़ाने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री से मिलने गोरखनाथ मंदिर जा रहे बीटीसी प्रशिक्षुओं पर 10 अक्टूबर को पुलिस ने धर्मशाला ओवरब्रिज के नीचे लाठाचार्ज किया और उन पर पानी की बौछार की। पानी की बौछार और लाठचार्ज में एक महिला प्रशिक्षु सहित कई घायल हो गए। पानी की बौछार के बावजूद महिला बीटीसी छात्राओं के डटे रहने पर प्रशासन घुटनों पर आ गया और उनसे बातचीत करने लगा। मुख्यमंत्री से मिलवाने का आश्वासन मिलने पर ही छात्राएं मानी और वापस गईं।

पेपर लीक होने के कारण बीटीसी चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा निरस्त कर दी गई है। इसी बीच क्षिक्षक पात्रता परीक्षा टीईटी की तारीख भी घोषित हो गई है और उसके लिए आवेदन करने की तिथि नौ अक्टूबर थी। चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा नहीं होने से बीटीसी प्रशिक्षु, टीईटी की परीक्षा देने से वंचित हो रहे थे। उनकी मांग थी कि चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा एक सप्ताह के अंदर करायी जाय और टीईटी परीक्षा की तिथि बढ़ा दी जाए जिससे वे भी उस परीक्षा में शामिल हो सकें।

इस मुद्दे को बीटीसी प्रशिक्षुओं ने नौ अक्टूबर को डीएम कार्यालय पर प्रदर्शन किया था। आज जब उन्हें मुख्यमंत्री के शहर में होने की जानकारी मिली तो वे मुख्यमंत्री से मिलने की तैयारी करने लगे। आज सुबह बीटीसी प्रशिक्षु डायट पर एकत्र हुए और हवां से जुलूस की शक्ल में बेतियाहाता, शास्त्री चैक, गोलघर होते हुए धर्मशाला ओवरब्रिज के नीचे से होते हुए गोरखनाथ मंदिर की तरफ बढ़ने लगे।

धर्मशाला ओवरब्रिज के नीचे पुलिस ने बैरीकेडिंग कर दी थी। यह देख छात्र-छात्राए नक्को शाह बाबा की मजार की तरफ से जाने लगे। तब पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज कर दिया। छात्रों पर पुलिस ने लाठियां बरसाईं तो छात्रों पर अग्निशमन विभाग की गाडी से पानी की बौछार करने लगे। पानी की बौछार के बावजूद छात्राएं डटी रहीं और वे सड़क पर बैठ गईं। अग्निशमन विभाग की गाड़ी का पानी खत्म हो गया और पुलिस दूसरी गाड़ी मंगाने के लिए वायरलेस करने लगी।

पानी की बौछार और लाठीचार्ज के बावजूद छात्र-छात्राओं को डटे रहने पर पुलिस ने उनसे बातचीत शुरू की। बातचीत के एडीएम व अन्य प्रशासनिक अधिकारी आए। करीब 45 मिनट की बातचीत के बाद मुख्यमंत्री से मिलवाने का आश्वासन मिलने पर छात्राएं मानीं।

लाठीचार्ज और पानी की बौछार करने पर बीटीसी छात्राएं बहुत नाराज थीं। उनका कहना था कि नवरात्रि में कन्या पूजन किया जाता है लेकिन गोरखपुर में पुलिस उन पर पानी की बौछार कर रही है। उनका कहना था कि पुलिस ने उनसे बातचीत की कोई पहल नहीं करते हुए लाठीचार्ज व पानी की बौछार की।

Add Comment

Click here to post a comment