Templates by BIGtheme NET
Home » विचार

विचार

शोषण से मुक्ति का रास्ता है मार्क्सवाद

mahesh ashk

गोरखपुर में कार्ल मार्क्स की 200 वी जयंती पर गोष्ठी गोरखपुर. दुनिया के महान क्रंतिकारी कार्ल मार्क्स की जयंती के 200 वी वर्षगांठ पर 5 मई को गोरखपुर विश्वविद्यालय के मजीठिया भवन में संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इसका आयोजन भगत सिंह छात्र मोर्चा, इंकलाबी नौजवान सभा व भगत सिंह अम्बेडकर मंच के सयुक्त तत्वावधान में किया गया। संगोष्ठी का ...

Read More »

हमारे लिए तो होली बेरंग है

शिक्षा मित्र_तीसरा दिन_प्रदर्शन

  बेचन सिंह पटेल प्रदेश के शिक्षामित्रों में जहां समायोजन रद्द होने का दुख है वहीं काम के बदले दाम न मिलने का मलाल. 25 जुलाई को समायोजन निरस्त होने के बाद से ही न तो सात महीने से बेसिक के शिक्षामित्रों का मानदेय मिला और न ही सर्व शिक्षा अभियान के शिक्षामित्रों को दो माह से मानदेय मिला. इसके ...

Read More »

सिर्फ डिग्रियां बांटने वाली टीचिंग मशीन बन गयी हैं यूनिवर्सिटी : प्रो.अनिल शुक्ल

pro anil shukl

‘ भारत में शिक्षक-शिक्षा के मुद्दे ‘ पर शिक्षा शास्त्र विभाग में दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी गोरखपुर। गोरखपुर विश्वविद्यालय के शिक्षा शास्त्र विभाग में आयोजित ‘ भारत में शिक्षक-शिक्षा के मुद्दे ‘ विषयक आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी के पहले दिन 24 फरवरी को मुख्य अतिथि महात्मा ज्योतिबा फुले रोहेलखंड विश्वविद्यालय बरेली के कुलपति प्रो.अनिल शुक्ला ने कहा कि आज ...

Read More »

बजट से गाँव और किसान के जीवन पर कोई सीधा प्रभाव नही पड़ने वाला है

budget 2018

आशुतोष राय बजट केवल सरकार के वार्षिक आय व्यय का लेखा जोखा भर नहीं होता, बल्कि एक महत्वपूर्ण राजनीतिक दस्तावेज होता है जो सरकार की प्राथमिकताओं और उद्देश्यों को स्पष्ट करता है। सीमित आय के स्रोतों को ध्यान में रखते हुए जब अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में बजट का आवंटन किया जाता है तो उससे सरकार की प्राथमिकताओं का पता ...

Read More »

प्राथमिक विफलता ?

primary-school_kushinagr

  शिक्षा अधिकार कानून के सात साल बाद जावेद अनीस भारत के दोनों सदनों द्वारा पारित ऐसा कानून जो देश के 6 से 14 के सभी बच्चों को निःशुल्क,अनिवार्य और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने की बात करता है उसके सात साल पूरे होने के बाद उपलब्धियों के बारे में सोचने को बैठें तो पता चलता है कि यह कानून अपना असर ...

Read More »

अल्पसंख्यकों के लिए गिनी चुनी योजनायें , उनका भी हाल बुरा

muslim votar

अल्पसंख्यक अधिकार दिवस पर खास सैयद फरहान अहमद फिलहाल ‘सबका साथ सबका विकास’ जुमले में अल्पसंख्यक फिट नहीं बैठ रहे हैं। अल्पसंख्यकों के विकास के लिए सरकार के पास कोई ठोस योजनाएं ही नहीं है। सालों पुरानी छात्रवृत्ति व मदरसों के आधुनिकीकरण के अलावा सरकार कोई योजना नहीं है। प्री-मैट्रिक, पोस्ट मैट्रिक, मेरिट-कम-मीन्स योजना व मदरसा आधुनिकीकरण योजना योजना सालों ...

Read More »

भारत में अंतर्राष्ट्रीय बाल अधिकार समझौते के 25 साल

IMG_20170815_161543

  जावेद अनीस 20 नवम्बर 1989 को संयुक्त राष्ट्र की आम सभा द्वारा “बाल अधिकार समझौते”को पारित किया था. जिसके बाद से हर वर्ष 20 नवम्बर को अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है. बाल अधिकार संधि ऐसा पहला अंतरराष्ट्रीय समझौता है जो सभी बच्चों के नागरिक, सांस्कृतिक, सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक अधिकारों को मान्यता देता है. इस ...

Read More »

टीपू सुल्तानः विविध आख्यान

tipu sultan

  राम पुनियानी पिछले कुछ सालों से, 10 नवंबर के आसपास, भाजपा, टीपू सुल्तान पर कीचड़ उछालने का अभियान चलाती रही है। पिछले तीन सालों से कर्नाटक सरकार ने आधिकारिक तौर पर टीपू की जयंती मनाना शुरू कर दिया है। टीपू सल्तान देश के एकमात्र ऐसे राजा हैं जिन्होंने अंग्रेज़ों के खिलाफ लड़ते हुए अपनी जान गंवाई। इस साल भी, ...

Read More »

चुनाव गुजरात में और दांव पर 2019 है

  जावेद अनीस गुजरात में चुनावी बिगुल बज चूका है और इसी के साथ ही यहाँ की हवा बदली हुई नजर आ रही है. अमित शाह और मोदी का अश्वमेध रथ अपने ही गढ़ में ठिठका हुआ नजर आ रहा है. गुजरात बीजेपी की शीर्ष जोड़ी का गढ़ हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यही के अपने “विकास मॉडल” को पेश करके ...

Read More »

ताजमहल और विघटनकारी राजनीति के खेल

–राम पुनियानी भारत, प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर तो है ही, यहां मानव-निर्मित चमत्कारों की संख्या भी कम नहीं है। ये न केवल भारत वरन पूरी दुनिया से पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते रहे हैं। अचम्भित कर देने वाली ऐसी ही इमारतों में शामिल है ताजमहल, जिसका निर्माण मुगल बादशाह शाहजहां ने अपनी प्रिय पत्नी मुमताज़ महल की याद में ...

Read More »