यात्रा संस्मरण

यात्रा संस्मरण साहित्य - संस्कृति

गंगटोक : खूबसूरत शहर , प्यारे लोग

सिक्किम यात्रा-4 (समाप्त) सगीर ए खाकसार अगर आप गंगटोक जा रहे हैं तो कम से कम पांच दिन या हफ्ते भर का प्रोग्राम अवश्य बनाएं। गंगटोक के चारों दिशाओं में कुछ न कुछ घूमने लायक़ है। गंगटोक के बारे में पहले...

Read More
यात्रा संस्मरण साहित्य - संस्कृति

छंगू लेक की खूबसूरती का भला क्या कहना !

सिक्किम यात्रा-3 सगीर ए खाकसार कहते हैं कि गंगटोक कश्मीर के बाद हिंदुस्तान की दूसरी सबसे खूबसूरत जगह है। मैंने कश्मीर तो देखा नहीं है। फिर मेरे लिए तो...

यात्रा संस्मरण साहित्य - संस्कृति

गंगटोक : भारत का स्विट्ज़रलैंड

सिक्किम यात्रा-2 सगीर ए खाकसार भारत का स्विट्ज़रलैंड कहे जाने वाले गंगटोक के स्थानीय पर्यटन स्थलों को देखने के क्रम में हमारे टैक्सी ड्राइवर जेपी ने सबसे पहले...

यात्रा संस्मरण साहित्य - संस्कृति

7200 फुट की ऊंचाई पर स्थित हनुमान टोक से दिखता है गंगटोक का खूबसूरत नजारा

सिक्किम यात्रा-एक सगीर ए खाकसार यह है हनुमान टोक। यह मंदिर सिक्किम के गंगटोक शहर से करीब 09 किमी दूर है। मेरे ड्राइवर ने बताया कि टोक का अर्थ होता है ऊंचाई या...

Skip to toolbar