Templates by BIGtheme NET
Home » साहित्य – संस्कृति (page 4)

साहित्य – संस्कृति

बिहार के साहित्यिक-सांस्कृतिक और शैक्षणिक जगत की पहचान थे प्रो. सुरेंद्र स्निग्ध

surendr snigdh

  प्रो. सुरेंद्र स्निग्ध को जसम की श्रद्धांजलि जन संस्कृति मंच कवि, उपन्यासकार, संपादक और अध्यापक प्रो. सुरेंद्र स्निग्ध के निधन पर गहरा शोक जाहिर करते हुए उनके परिजनों और तमाम चाहने वालों के प्रति अपनी संवेदना का इजहार करता है। पिछले कुछ दिनों से फेंफड़े में गंभीर संक्रमण की वजह से वे जगदीश मेमोरियल अस्पताल में वेंटिलेटर पर थे, ...

Read More »

चंद्रशेखर पांडे ” अफ़रोज़ ” की किताब ” दरख्शां ” का विमोचन

vimochan

बगहा (पश्चिम चम्पारण ), 22 नवम्बर. चंपारण अदबी मंच के बैनर तले डी एम एकेडमी बगहा के परिसर में आयोजित एक कार्यक्रम में चंद्रशेखर पांडे ” अफ़रोज़ ” की किताब ” दरख्शां ” का विमोचन किया गया. कार्यक्रम की अध्यक्षता बगहा के एस डी एम  घनश्याम मीणा ने किया जबकि मुख्य अतिथि के रूप में एस पी बगहा डाक्टर अरविंद ...

Read More »

अबकी बार लौटा तो वृहत्तर लौटूँगा

कुंवर नारायण

गीतेश सिंह  15 नवम्बर 2017 को लगभग नब्बे वर्ष की आयु में हिंदी के महान कवि कुँअर नारायण की सांसों ने उनका साथ छोड़ दिया और कुँवर जी ने हमारा | ‘अबकी बार वृहत्तर लौटने ’ की उम्मीद में हम उन्हें अपने साथ लिए ‘मनुष्यतर’ होने की राह पर चलते रहेंगे | विज्ञान विषय की पढ़ाई से साहित्य की दुनिया ...

Read More »

पाँच दशकों में फैली सृजन यात्रा : “ वह औरत नहीं महानद थी ”

Cover-Kaushal Kishore

डॉ. संदीप कुमार सिंह कवि, समीक्षक,संस्कृतिकर्मी व पत्रकार कौशल किशोर का बोधि प्रकाशन जयपुर से प्रकाशित ” वह औरत नहीं महानद थी ” पहला काव्य संग्रह है. यह संकलन दो खण्डों में विभक्त है . पहले खंड ‘ एक मुट्ठी रेत ‘  में 29 कविताएँ तथा दूसरे ‘ अनंत है यह यात्रा ‘ में 35 कविताएँ हैं . 176 पृष्ठ ...

Read More »

कभी धूमिल नहीं होगी कुँवर नारायण की स्मृति

कुंवर नारायण

 कवि कुंवर नारायण को जन संस्कृति मंच  की श्रद्धांजलि मुक्तिबोध ने उन्हें पसंद किया और उनके दूसरे कविता-संग्रह ‘परिवेश : हम-तुम’ की समीक्षा करते हुए लिखा था कि वह ”अंतरात्मा की पीड़ित विवेक-चेतना और जीवन की आलोचना” के कवि हैं। इससे पहले मुक्तिबोध मस्तिष्काघात के चलते अपने अंतिम समय में दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में लगभग एक महीने तक ...

Read More »

“ जिस झूठ को तुम चाहो फैलाओ जमाने में, अखबार तुम्हारे हैं चैनल भी तुम्हारे हैं ”

mushayra 3

स्टार चेरिटेबुल ट्रस्ट ने आयोजित किया चौथा सैयद मज़हर अली शाह मेमोरियल आल इंडिया मुशायरा एवं कवि सम्मेलन  सैयद फरहान अहमद गोरखपुर , 12 नवम्बर.स्टार चेरिटेबुल ट्रस्ट की जानिब से चौथा सैयद मज़हर अली शाह मेमोरियल आल इंडिया मुशायरा एवं कवि सम्मेलन शनिवार को  बक्शीपुर स्थित एमएसआई इंटर कालेज में रवायती अंदाज में आयोजित हुआ। मुशायरा व कवि सम्मेलन रात ...

Read More »

जनकवि दुर्गेंद्र अकारी विजेंद्र अनिल ने जनजागरण का काम किया

रामनिहाल गुंजन

जन संस्कृति मंच ने विजेंद्र अनिल और दुर्गेंद्र अकारी की स्मृति में गोष्ठी आयोजित की   आरा (बिहार ) . 3 नवंबर 2007 को जनगीतकार और कहानीकार विजेंद्र अनिल का निधन हुआ था और 5 नवंबर 2012 को जनकवि दुर्गेंद्र अकारी का। विजेंद्र अनिल के दसवें स्मृति दिवस और अकारी जी के पांचवें स्मृति दिवस पर विगत 5 नवंबर को जन ...

Read More »

‘ कोरस ’ ने मंच पर जीवंत किया ‘ कुच्ची का कानून ’

kuchichi ka kanoon

तीन-दिवसीय कार्यक्रम ‘अजदिया भावेले’ के तहत प्रेमचंद रंगशाला में हुआ  ‘कुच्ची का कानून’ का मंचन पटना, 8 नवम्बर.  प्रेमचंद रंगशाला में ‘कोरस’ ने  5 नवम्बर को तीन-दिवसीय कार्यक्रम ‘अजदिया भावेले’ के तहत कथाकार शिवमूर्ति की चर्चित कहानी ‘कुच्ची का कानून’ का मंचन किया। नाटक के मंचन के दौरान कथाकार शिवमूर्ति भी उपस्थित रहे और उन्होंने दर्शकों द्वारा पूछे गए सवालों ...

Read More »

हिन्दी की वरिष्ठ कथाकार कृष्णा सोबती को ज्ञानपीठ पुरस्कार

Krishan Sobti

 गीतेश नई दिल्ली, 3 नवम्बर. हिंदी की वरिष्ठ कथाकार कृष्णा सोबती को वर्ष 2017 का ज्ञानपीठ पुरस्कार दिया जाएगा | वरिष्ठ साहित्यालोचक नामवर सिंह की अध्यक्षता वाली समिति ने कृष्णा सोबती के हिंदी साहित्य में महान योगदान के लिए यह पुरस्कार देने का निर्णय लिया | इससे पहले कृष्णा सोबती को साहित्य अकादमी सम्मान, साहित्य शिरोमणि सम्मान, श्लाका सम्मान, मैथिलीशरण ...

Read More »

पटना में कोरस के ‘ अजदिया भावेले ‘ में नूर जहीर का कहानी और सविता सिंह का कविता पाठ

ajdiya bhawle 5

पटना,  1 नवम्बर. जन संस्कृति मंच की इकाई कोरस ने 28-29 अक्टूबर को पटना के बीआइए सभागार में ‘अजदिया भावेले’  कार्यक्रम के तहत कहानी और कविता पाठ तथा ‘साहित्य में समकालीन महिला दृष्टि ’ पर सेमिनार का आयोजन किया. अब इस कड़ी में 5 नवम्बर को प्रसिद्ध कथाकार शिवमूर्ति की कहानी ‘ कुच्ची का कानून ‘ का नाट्य मंचन होगा. ...

Read More »