स्वास्थ्य

देवरिया में 1163 संदिग्ध रोगियों में से 73 में कुष्ठ की पुष्टि

देवरिया। जिले में 15 फरवरी से 28 फरवरी तक चले कुष्ठ रोगी खोजी अभियान में 1163 संदिग्ध रोगी मिले जिनकी जांच स्वास्थ्य विभाग द्वारा गठित टीम ने किया। जांच के बाद 73 लोंगो में कुष्ठ रोग की पुष्टि के बाद स्वास्थ्य विभाग ने उनका इलाज शुरू कर दिया है।

कुष्ठ रोगी खोजी अभियान में 3354 टीमें कुष्ठ रोगियों को खोजने के लिए उतारी गईं। इन टीमों में एक आशा व एक स्वास्थ्य कर्मी शामिल किए गए। कुष्ठ रोगियों की तलाश में टीम को जिले के अर्बन सहित 17 ब्लाकों को लगाया गया। टीम के सदस्यों ने घर-घर जाकर कुष्ठ रोगियों की पड़ताल किया। कुष्ठ रोगी खोजी अभियान में 1163 संदिग्ध रोगी मिले। जिनकी जाँच स्वास्थ्य विभाग की टीम ने किया। जिसमे 17 ब्लाकों से 73 लोगों में कुष्ठ रोग की पुष्टि हुई।

जिला कुष्ठ आधिकारी डा अमरेन्द् प्रताप सिंह ने बताया कि बैतालपुर से 7, गौरीबाजार से 5, रुद्रपुर से 2, महेंन से 7, मझगवां से 3, भलुवनी से 6, भागलपुर से 6, लार से 3, सलेमपुर से 4, भाटपार से 2, बनकटा से 4, भटनी से 4, पथरदेवां से 4, तरकुलवा से 4, देसाई देवरिया से 6, रामपुरकारख़ाना से 5 और शहर से 1 कुष्ठ रोगी मिले हैं जिनका इलाज एमडीटी दवा से नजदीक के स्वास्थ्य केंद्र पर शुरू हो गया है।

उन्होंने बताया कि शरीर का कोई भी सुन्न दाग कुष्ठ रोग की श्रेणी में आता है। जोड़ों में दर्द होना, त्वचा पर दबाव देने पर भी त्वचा में कोई हरकत महसूस न होना या कम महसूस होना, नस क्षतिग्रस्त होकर वजन कम होना, त्वचा पर फोड़े या चकत्ते बनना, त्वचा पर दर्द रहित फफोले बनना, आंखों में सूखापन, पलक कम झपकना, बाल झड़ना आदि कुष्ठ रोग के लक्षण हैं।

Leave a Comment