समाचार

एक्सप्रेस ट्रेन की रामकोला में स्टापेज की मांग को लेकर धरना-प्रदर्शन

कुशीनगर. थावे -कप्तानगंज रूट से होकर लखनऊ -छपरा स्पेशल ट्रेन 05065/05066 के स्थान पर आगामी 11अक्टूबर से चलने वाली 15113/15114 नम्बर की एक्सप्रेस का रामकोला में स्टापेज पेज न दिये जाने के विरोध में आज़ पूर्वान्ह रामकोला स्टेशन पर व्यापारियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने धरना दिया और स्टेशन मास्टर को एक ज्ञापन पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबंधक को भेजने के लिए सौंपा।

ज्ञापन में कहा गया है कि एक तो कप्तानगंज -थावें -छपरा रूट पर पिछले पांच वर्षों में न कोई ट्रेन बढ़ाई गई न यात्री सुविधाओं में बढ़ोत्तरी ही की गई बल्कि एक मात्र एक्सप्रेस ट्रेन की रामकोला में मिल रही स्टोपेज की सुविधा भी छीन ली जा रही है । इस अवसर पर स्टेशन मास्टर ने एक प्रश्न के उत्तर में जानकारी दी कि सप्ताह में जिन दो दिनों में लखनऊ -छपरा एक्सप्रेस ट्रेन रामकोला में रुकती है उस दिन रामकोला के स्टेशन काउंटर से साधारण टिकटों की बिक्री तीन गुने से भी अधिक हो जाती है । इस ज्ञापन की प्रतिलिपि व्यापार मण्डल द्वारा कुशीनगर के सांसद राजेश पांडेय और रेल राज्य मन्त्री को भी स्टेशन परिसर से ही भेजी गई ।
धरना और ज्ञापन देने वालों में व्यापार मण्डल अध्यक्ष बूनेला गुप्त , सामाजिक कार्यकर्ता सन्तोष सिंह , जकाउल्लाह कुशीनगरी , सत्तीश खरवार , प्रमोद केडिया , पिंटू मद्धेसिया , महेश वर्मा , रामसूरत शर्मा , हरी यादव , नफीस असलम , अक्षयवर बरनवाल , मुन्ना बर्णाल , श्रवण सोनी सहित अनेक लोग शामिल रहे ।

 

आमान परिवर्तन के बाद भी यात्रियों को कप्तानगंज -थावे -सीवान -छपरा रेल मार्ग पर नहीं मिल रही सुविधा  

कप्तानगंज -थावे -सीवान -छपरा रूट का अंतिम रूप से आमान परिवर्तन हुये एक साल बीत चुका है परंतु इस रूट से सम्बंधित यात्रियों को उतनी भी सुविधा नहीं मिल पा रही है जितनी कि मीटर गेज के समय में मिला करती थी।

यह रूट यू पी के कुशीनगर जिला और बिहार के गोपालगंज , छपरा और सीवान के स्टेशनों को आपस में जोड़ने का कार्य करता है । गोरखपुर स्टेशन इस रूट के सभी स्टेशनों के लिये व्यापार , चिकित्सा और राजकीय तथा अन्य निजी कार्यों के लियें अत्यंत महत्व पूर्ण है मगर छपरा -थावे खंड पर तो कोई ऐसी ट्रेन नहीं है जो सीधे पडरौना -कप्तानगंज होकर गोरखपुर आ जा सके । पांच वर्षौं पूर्व के रेल बजट में कहा गया था कि आमान परिवर्तन का कार्य पूरा हो जाने पर छपरा -लखनऊ वाया मसरक एक्सप्रेस ट्रेन चलेगी किंन्तु अब तक नहीं चली ।

छपरा कचहरी से थावे तक चल रही 55182 को गोरखपुर तक बढ़ा दिया जाय और 55183को थावे की जगह गोरखपुर से चलायीं जाय तो कप्तानगंज से थावे के बीच के यात्रियो को तो लाभ मिलेगा ही कप्तानगंज -नरकटियागंज खण्ड के यात्री भी लाभान्वित होंगे ।

 इसी तरह मेन रूट पर चल रही लम्बी दूरी की कुछ ट्रेनों को गोरखपुर और छपरा स्टेशनों पर डाइवर्ट कर वाया मसरक -गोपालगंज -तमकुहीरोड -पडरौना -कप्तानगंज चलायी जाय तो जंहा एक ओर मेन लाईन पर लोड कम होगा वही छपरा -थावे -कप्तानगंज -रूट के यात्रियो को रेल विभाग ‘ सब का साथ सब का विकास ‘ का सिद्धांत बिना किसी अतरिक्त संसाधन को जुटाये पूरा कर सकता है ।

Leave a Comment