समाचार

धुरियापार चीनी मिल में बनेगा एथेनाल

मिल की 50 एकड़ भूमि में इंडियन आयल कारपोरेशन लगायेगा एथेनाल प्लांट
चीनी मिल समिति की बैठक में भूमि के हस्तांतरण के प्रस्ताव पर सहमति
एथेनाल के उत्पादन के लिए गन्ने की जड़ों का होगा इस्तेमाल

गोरखपुर. धुरियापार की बंद पड़ी चीनी मिल में सेकेंड जनरेशन एथेनाल प्लांट की स्थापना होगी. इस प्लांट में गन्ने की निष्प्रयोज्य जड़ों को किसानों के खेतों से एकत्र कर लाया जायेगा और उससे एथेनाल बनाया जायेगा. प्लांट की स्थापना इंडियन आयल कारपोरेशन करेगा.

सूचना विभाग की विज्ञप्ति के अनुसार मंगलवार को डीएम के विजयेन्द्र पाण्डियन की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में धुरियापार चीनी मिल के सामान्य निकाय की बैठक में चीनी मिल समिति के सभी पदाधिकारियों एंव प्रतिनिधियों ने धुरियापार चीनी मिल में सेकेण्ड जनरेशन एथेनाल प्लान्ट की स्थापना के लिए बन्द मिल की 50 एकड़ भूमि को लीज पर इंडियन आयल कारपोरेशन को उपलब्ध कराने के लिए शासन को प्रस्ताव भेजने पर सहमति प्रदान की है.

बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने चीनी मिल की जमीन पर एथेनाल के प्रस्ताव के बारे में सभी को विस्तार पूर्वक जानकारी दी. उन्होंने बताया कि एथेनाल प्लान्ट लगने से किसानों को लाभ मिलेगा. उन्होंने कहा कि कंपनी किसानों से गन्ने की जड़ उनके खेतों से लेकर उससे एथेनाल का उत्पादन करेगी. इस प्रकार किसानों को गन्ने की निष्प्रयोज्य जड़ों का मूल्य भी मिलेगा.

जिलाधिकारी ने कहा कि शीघ्र ही धुरियापार चीनी मिल के संचालन की प्रारंभ होगा. बैठक में धुरियापार किसान सहकारी चीनी मिल लि हरपुर, गजपुर के उप सभापति विजय कुमार शाही ने चीनी मिल की 50 एकड़ भूमि को लीज पर लिए जाने के संबंध में सभी सदस्यों को प्रस्ताव के बारे में बताया गया. इस अवसर पर धुरियापार किसान सहकारी चीनी मिल लि हरपुर, गजपुर के पदाधिकारी आदि उपस्थित रहे.

Skip to toolbar