समाचार

डा. कफील और अन्य चिकित्सकों की रिहाई के लिए एएमयू में निकला प्रोटेस्ट मार्च

रेजीडेंटस डाक्टर्स एसोसिएशन और छात्र संघ ने की अगुवाई

गोरखपुर। आक्सीजन हादसे में गिरफ्तार बीआरडी मेडिकल कालेज के तीन चिकित्सकों की रिहाई की मांग को लेकर 23 मार्च को अलीगढ़ में प्रोटेस्ट मार्च निकाला गया। यह मार्च एएमयू छात्र संघ और रेजिडेंट्स डाक्टर्स एसोसिएशन (आरडीए)ने संयुक्त रूप से आयोजित किया था।

प्रोटेस्ट मार्च मेडिकल कालेज के इमर्जेन्सी से शुरू हुआ। यहां पर एकत्रित चिकित्सक उपाध्यक्ष डा. दीपक अग्रवाल और सहसचिव मो. आदिल के नेतृत्व मेें विश्विविद्यालय के विभिन्न मार्गों पर मार्च किया। छात्र संघ के अध्यक्ष मशकूर अहमद उस्माची के नेतृत्व में छात्र संघ के पदाधिकारी भी मार्च में शामिल हुए।

amu _protest 2

मार्च में शामिल चिकित्सकों और छात्र संघ पदाधिकारियों ने कहा कि बीआरडी मेेडिकल कालेज के डा. कफील अहमद खान, डा. सतीश कुमार और डा. राजीव मिश्रा तथा डा. राजीव मिश्रा की पत्नी डा. पूर्णिमा शुक्ला सात माह से अधिक समय से जेल में बंद हैं। सरकार ने अपनी विपफलता छिपाने के लिए डाॅक्टरों इस मामले में फंसा दिया। इस सम्बन्ध में एक ज्ञापन भी दिया गया।

amu _protest 4

ज्ञापन में गिरफ्तार चिकित्सकों को तुरन्त रिहा करने और उनके मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाकर जल्द न्याय देने की मांग की गई है । साथ ही इन सभी चिकित्सकों को पूरे सम्मान के साथ वापस काम पर लिया जाय। ज्ञापन में मांग की गई है कि इस घटना में व्यवस्था की विफलता की जांच के लिए एक न्यायिक जांच कमेटी बनायी जाए जिसमें पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट भी हों। यह कमेटी पब्लिक हेल्थ सिस्टम को मजबूत बनाने सही कदम उठाने के लिए सुझाव भी दे।

Leave a Comment