जनपद

काजी-ए-हिन्दुस्तान हजरत मुफ्ती अख्तर रजा खां अजहरी मियां का इंतकाल पर शहर की मस्जिदों में हुई दुआ-ए-मगफिरत

  • 36
    Shares

गोरखपुर. आला हजरत खानदान की बुजुर्ग हस्ती काजी-ए-हिन्दुस्तान हुजूर ताजुश्शरिया हजरत मुफ्ती अख्तर रजा खां अजहरी मियां का इंतकाल शुक्रवार की शाम बरेली में हो गया.

सोशल मीडिया के जरिए जैसे ही यह खबर गोरखपुर में पहुंची सुन्नी बरेलवी मुसलमान गमगीन हो गए. शहर के उलेमा मुफ्ती अख्तर हुसैन अजहर मन्नानी, मुफ्ती मोहम्मद अजहर शम्सी, मौलाना असलम रज़वी, मौलाना मोहम्मद अहमद, मौलाना शादाब रज़वी, मुफ्ती खुर्शीद अहमद मिस्बाही, कारी अंसारुल हक कादरी, मौलाना हिदायतुल्लाह, मौलाना नूरुज्जमा मिस्बाही, मौलाना गुलाम दस्तगीर, कारी मोहसिन बरकाती, हाफिज महमूद रजा कादरी, हाफिज नजरे आलम कादरी, हाफिज रेयाज अहमद, हाफिज रहमत अली निजामी सहित तमाम उलेमा ने गम का इजहार किया है.

मक्का मस्जिद मेवातीपुर, मस्जिद फैज-ए-रजा तारामंडल, मकबरे वाली मस्जिद बनकटीचक, रसूलपुर जामा मस्जिद, नूरी जामा मस्जिद चक्शा हुसैन, गाजी मस्जिद गाजी रौजा, गौसिया मस्जिद छोटे काजीपुर, मस्जिद खादिम हुसैन तिवारीपुर, औलिया जामा मस्जिद घोसीपुरवा, जामा मस्जिद रहमतनगर, चिश्तिया मस्जिद बक्शीपुर सहित शहर की तमाम मस्जिदों में हुजूर ताजुश्शरिया के लिए नमाजियों ने दुआ-ए मगफिरत की.