पर्यावरण

वाल्मीकिनगर में इको टूरिज्म को बढ़ावा दिया जायेगा, साइकिल सफारी का शुभारंभ

छितौनी। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को वाल्मीकिनगर के वाल्मीकि विहार होटल परिसर में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि वाल्मीकिनगर टाइगर रिजर्व एरिया में इको टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं. इसे राजधानी पटना और राजगीर की तर्ज पर विकसित करने पर कार्य चल रहा है। अगली कैबिनेट की बैठक वाल्मीकिनगर में कराने के साथ ही यहां एक बड़ा कन्वेंशन सेंटर भी स्थापित करने की योजना पर विचार किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि जल संसाधन विभाग ने इको टूरिज्म के विकास के लिए 200 एकड़ जमीन वन विभाग को हस्तांतरित कर दी है जिससे इसके विकास का मार्ग भी प्रशस्त हो गया है। साथ ही सिंचाई विभाग से 8 एकड़ जमीन लेकर आदिवासी बहुल इलाके में बगहा 2 का प्रखंड मुख्यालय भी बनाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि मनोहारी दृश्य प्रस्तुत करने वाले यहां के लालभीतिया गांव में सूर्यास्त देखने के लिए विशेष व्यवस्था की जाएगी। बिहार के सबसे खूबसूरत जगह में वीटीआर शुमार होगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने वाल्मीकिनगर में इको टूरिज्म को बढ़ाने पर जोर देते हुए साइकिल सफारी का शुभारंभ भी किया।

उन्होंने जलवायु परिवर्तन पर चिंता जताते हुए कहा कि पहले राज्य में हरित आवरण नौ प्रतिशत था जो अब बढ़कर 15 फीसद हो गया है। अब इसे 17 प्रतिशत तक ले जाने का लक्ष्य रखा गया है। इस मौके पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि वीटीआर में अगले साल तक एक लाख पर्यटकों को लाने का सरकार ने लक्ष्य बनाया है।

Leave a Comment