समाचार

अंडा उत्पादक किसानों ने नेशनल पोल्ट्री एक्सपो में अंडे फोड़ किया विरोध प्रदर्शन

अंडा उत्पादन कारोबार में नुकसान और सरकार की उपेक्षा से नाराज हैं अंडा उत्पादक किसान
एक्सपो के उद्घाटन के वक्त भी किया था विरोध प्रदर्शन

गोरखपुर। अंडा उत्पादन कारोबार में हो रहे जबर्दस्त घाटे से दुखी और इस मसले पर सरकार द्वारा कोई कदम नहीं उठाने से नाराज अंडा उत्पादक किसानों ने आज गोरखपुर विश्वविद्यालय के संवाद भवन में चल रहे इंडिया पोल्ट्री एक्सपो में मंच पर अंडे फोड़ कर विरोध जताया। दो दिन पहले अंडिया पोल्ट्री एक्सपो के उद्घाटन के दिन अंडा उत्पादकों ने 18 अक्टूबर को एक्सपो का बहिष्कार करते हुए विरोध प्रदर्शन किया था।

पूर्वांचल के अंडा उत्पादक छह महीने से अधिक समय से व्यवसाय में हो रहे भारी नुकसान से परेशान हैं। व्यवसाय में नुकसान मक्का और सोया के दाम में वृद्धि के साथ-साथ हरियाणा, पंजाब से सस्ते अंडों की यहां के मंडियों में आवक है। अंडा उत्पादकों के संगठन पूर्वांचल अंडा उत्पादक कृषक कल्याण समिति की मांग है कि प्रदेश सरकार उत्तर प्रदेश के अंडा उत्पादक किसानों की मदद करे और दूसरे प्रदेशों से आ रहे सस्ते अंडों की आवक को रेगुलेट करे।

समिति चाहती है कि सरकार अंडा उत्पादकों को सस्ते दर पर मक्का-सोया मुहैया कराए, मक्का-सोया की कालाबाजारी रोके, मिड डे मील स्कीम में अंडे को शामिल करे, अंडा के थोक विक्रेताओं का लाइसेंसीकरण करें। इस मांग को लेकर पूर्वांचल अंडा उत्पादक कृषक कल्याण समिति ने गोरखपुर के डीएम से लेकर सम्बन्धित मंत्री और मुख्यमंत्री से मुलाकात की थी। विभागीय मंत्री जय प्रकाश निषाद ने आश्वासन दिया था कि 10 दिन में सरकार अंडा उत्पादकों के हित में फैसला लेगी लेकिन दो महीने होने के बावजूद सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया। अंडा उत्पादक किसान लगातार हो रहे घाटे के चलते बर्बाद होने के कगार पर पहुंच चुके हैं। सरकार की उपेक्षा ने उन्हें नाराज भी कर दिया है।

पढ़िए अंडा उत्पादक किसानों की बदहाली की कहानी

पूर्वांचल के अंडा उत्पादक बर्बादी के कगार पर, हर रोज दस हजार से एक लाख का हो रहा घाटा

गोरखपुर विश्वविद्यालय के संवाद भवन में 18 अक्टूबर ने नेशनल पोल्ट्री एक्सपो का आयोजन किया गया है। इस एक्सपो का उद्घाटन करने कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही और जय प्रकाश निषाद को आना था लेकिन उन्हें अंडा उत्पादाक किसानों के आक्रोश की जानकारी हो गई और वे नहीं आए। सैकड़ों की संख्या में जुटे अंडा उत्पादकों ने शर्ट उतार कर प्रदर्शन किया और एक्सपो का बहिष्कार किया। कुछ किसान एक्सपो के अंदर चले गए और विरोध स्वरूप सभागार के आगे जमीन पर बैठ गए। तमाम अनुरोध के बावजूद वे जमीन पर ही बैठे रहे। आयोजकों ने तब समिति के अध्यक्ष अमित सिंह विशेन को अपनी बात कहने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने अपनी समस्या की विस्तार से जानकारी दी और कहा कि यदि सरकार ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया तो अंडा उत्पादक किसान बर्बाद हो जाएंगे और वे आत्महत्या के लिए विवश होंगे।

इस विरोध प्रदर्शन के बावजूद प्रशासन और सरकार की ओर से अंडा उत्पादकों की समस्या दूर करना तो दूर उनसे बातचीत की भी पहल नही हुई। इससे आक्रोशित अंडा उत्पादक आज फिर एक्सपो में पहुंचे और मंच पर अंडे फोड़कर विरोध दर्ज कराया। मंच पर लगे फलैक्स पर भी अंडे फेेके गए। पर अंडे फोड़े जाने से थोड़े समय के लिए अफरा-तफरी मच गई।

अंडे फोड़ते समय अंडा उत्पादक किसान ‘ पोल्टी एक्सपो मुर्दाबाद ’, ‘ किसान एकता जिंदाबाद ’, ‘ मर रहा किसान है, सो रही सरकार है ’ के नारे लगा रहे थे।

 

 

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz