समाचार

20 दिन में गन्ना मूल्य भुगतान का लिखित आश्वासन मिलने पर माने किसान

कुशीनगर. सेवरही चीनी मिल (द यूनाइटेड प्रोविंस सुगर कंपनी लिमिटेड) गेट पर किसानों के 70 करोड़ बकाया मूल्य भुगतान को लेकर चल रहा  आंदोलन 11 वें दिन 20 दिन में भुगतान के आश्वासन के बाद समाप्त हो गया.चीनी मिल के अधिशासी निदेशक ने लिखित आश्वासन दिया कि 20 दिन में गन्ना मूल्य का भुगतान  कर दिया जायेगा.

उन्होंने लिखित समझौता पत्र में लिखा है कि उत्तर प्रदेश सरकार से 4.50 रुपया प्रति कुंतल की दर से मिलने वाली अनुदान राशि 3.43 करोड़ मिलते ही उसका सीधा भुगतान गन्ना किसानों के खाते में कर दिया जायेगा. अवशेष 61.26 करोड़ के भुगतान के लिए उत्तर प्रदेश सरकार से साफ्ट लोन लेने के लिए आवेदन किया जायेगा और जैसे ही धन की प्राप्ति होगी उसका सीधा भुगतान गन्ना किसानों के खाते में किया जायेगा.

बकाया गन्ना मूल्य भुगतान के लिए कांग्रेस विधान मंडल दल के नेता एवं क्षेत्रीय विधायक अजय कुमार लल्लू की अगुवाई में किसान और कांग्रेस कार्यकर्ता सेवरही चीनी मिल पर धरना-प्रदर्शन कर रहे हे थे. इस दौरान दो बार प्रशासन, गन्ना विभाग और चीनी मिल अधिकारीयों से बातचीत हुई लेकिन ठोस आश्वासन नहीं मिलने पर किसानों ने आन्दोलन जारी रखा. दसवें दिन किसानों ने चीनी मिल गेट पर ताला लगा दिया.

आन्दोलन के 11 वें दिन धरनास्थल पर अपर जिलाधिकारी कुशीनगर, जिला गन्ना अधिकारी,अपर पुलिस अधीक्षक, गन्ना मिल के अधिशासी निदेशक, एसडीएम तमकुही सहित तमाम अधिकारी पहुंचे.
गन्ना मूल्य भुगतान को लेकर विधायक एवं किसानों की सभी मांगो को अपर जिलाधिकारी ने स्वीकार किया व लिखित में कहा कि 20 दिन के अंदर किसानों का बकाया भुगतान कर दिया जायेगा. लिखित आश्वासन के बाद आंदोलन को स्थगित कर दिया गया.

Leave a Comment