समाचार

किसानों का गन्ना पर्ची को लेकर हंगामा, ईंट-पत्थर फेंका , कर्मचारी को पीटा

सिसवा बाज़ार (महराजगंज). सोमवार को गन्ना आपूर्ति पर्ची वितरण में धांधली से नाराज किसानों ने सिसवा केन यूनियन कार्यालय में हंगामा कर दिया. कार्यालय में तोड़फोड़ करते हुए पत्थर बरसाए व एक कर्मचारी को पीट दिया.

किसानों के आक्रोश को देखते हुए कर्मचारी कार्यलय बन्द कर फरार हो गये. मौके पर पहुंचे एसओ कोठीभार व नगर चौकी इंचार्ज ने जिला गन्ना अधिकारी को बुला कर बात करवाने के आश्वासन दिया तब जाकर हंगामा शांत हुआ.

किसान लाल बहादुर, इंद्रासन, जलालुद्दीन, शंकर, कमलावती, निक्कम, संतोष मल्ल का कहना है कि विभाग द्वारा गरीब किसानों के साथ ज़्यादती की जा रही है। बड़े किसानों से पैसे लेकर कर्मचारी उनको पर्ची दे रहे है जबकि बहुत सारे किसानों को गन्ना खेतों में सूख रहा है. बैजनाथ सिंह ने कहा कि अभी तक कृषकों का गन्ना खेतों में पड़ा है जिसके सहारे गरीब किसानों ने भाई,बहन,बेटियों की शादी तय रखी है. ऐसे में किसानों का आक्रोशित होना स्वाभाविक है. अगर हालात जल्द नही सुधरे तो बड़े आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा व रास्ता जाम कर प्रदर्शन किया जायेगा.

मौके पर पहुंचे सीओ निचलौल रणविजय सिंह ने दस किसानों को थाने पर बुलाया और वहां  जिला गन्ना अधिकारी जगदीशचन्द यादव, अतिरिक्त उपजिलाधिकारी अनिल कुमार त्रिपाठी, सिसवा केन  यूनियन के सचिव प्रेमचंद चौरासिया व आईपीएल चीनी मिल के यूनिट हेड अनिल पवार से बात करायी. इस संदर्भ में जिला गन्ना अधिकारी ने कहा कि वार्ता में निर्णय लिया गया है कि सभी किसानों का कलेंडर कोड के आधार पर सूची बना कर उन्हें पर्ची उपलब्ध करायी जाएगी ताकि जल्द से जल्द किसान अपना गन्ना मिल में गिरा सके. सूची बनाने के लिये स्थानीय थाने के अलावा निचलौल थाने की फोर्स बुलाई गयी है.

Leave a Comment