समाचार

आर्थिक तंगी से त्रस्त मछली विक्रेता ने लगा ली फांसी

घर के बाहर नीम के पेड़ पर लटका मिला शव

सिसवा बाज़ार (महराजगंज)14 जून। कोठीभार थाना क्षेत्र के ग्राम कोल्हुआ निवासी एक व्यक्ति ने आर्थिक तंगी और बैंक के कर्ज़े से तंग आकर बुधवार की रात फंदा लगा कर आत्महत्या कर ली। गुरुवार सुबह घर के बगल में नीम के पेड़ से लटकते हुए उसका शव मिला।

ग्राम सभा कोल्हुआ निवासी 45 वर्षीय प्रभु साहनी की 6 बेटियां और 3 बेटे हैं। वह मछली बेच कर अपने परिवार का भरण पोषण करता था। उसने बैंक से डेढ़ लाख रुपये कर्ज़ लेकर दो बेटियों सविता और बिंदु की शादी की थी। अन्य बेटियों की शादी के लिए वह काफी परेशान रहता था। इधर बैंक का कर्ज चुकता नहीं कर पाने के कारण उसकी चिंता और बढ़ा गई थी। इस बीच बैंक ने भी कर्ज जमा करने का दबाव बनाना आरम्भ कर दिया। बैंक के कर्ज का भुगतान करने के लिए गांव के एक व्यक्ति से उसने एक लाख का कर्ज ले लिया।

प्रभु की पत्नी शुभागी देवी ने बताया कि एक माह पूर्व प्रभु ने गांव में ही एक व्यक्ति से एक लाख रुपया कर्ज लेकर बैंक में जमा किया था। इसके बाद से वह और अधिक तनाव में रहने लगा। ग्रामीण जब कारण पूछते तो यही कहता कि बैंक कर्जा का भी भुगतान नही पर पाया और पैसे के आभाव में बेटियों की शादी भी नहीं हो पा रही है।

IMG-20180615-WA0003

इसी तनाव में बुधवार की रात प्रभु भोजन करके अपने छप्पर के मकान में सोने चला गया और रात के किसी समय घर के बगल में नीम के पेड़ पर प्लास्टिक की रस्सी का फंदा लगाकर उसने आत्महत्या कर ली। गुरुवार सुबह परिजनों ने पेड़ से लटकता हुआ उसका शव देखा। सूचना पाकर मौके पर पहुंची कोठीभार पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।एसओ अरुण राय ने बताया कि परिजनों व ग्रामीणों के अनुसार प्रारम्भिक जांच में आर्थिक तंगी को लेकर आत्महत्या का मामला लगता है। पोस्ट मार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Add Comment

Click here to post a comment