स्वास्थ्य

तम्बाकू सेवन करते मिले तो टोकेंगे स्वास्थ्यकर्मी

विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर सीएमओ ने दिलायी शपथ

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव भी गोष्ठी का हिस्सा बनीं

गोरखपुर। विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर स्वास्थ्य विभाग के तत्वावधान में मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय स्थित प्रेरणा श्री सभागार में गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी की मुख्य अतिथि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव तारकेश्वरी सिंह और अध्यक्षता कर रहे मुख्य चिकित्साधिकारी (सीएमओ) डा. श्रीकांत तिवारी ने मौजूद सैकड़ों स्वास्थ्यकर्मियों को शपथ दिलायी कि अगर उन्हें कोई भी तम्बाकू का सेवन करते मिले तो उसे अवश्य टोकेंगे।

तम्बाकू निषेध अभियान में जनभागीदारी बढ़ाने के लिए एक हस्ताक्षर अभियान भी सीएमओ कार्यालय पर चलाया गया, जिसमें लोगों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया।
इस अवसर पर सीएमओ ने कहा कि आयोजन में तम्बाकू से जुड़ी जो भी बातें बतायी जा रही हैं, उन्हें जन-जन तक पहुंचाने की आवश्यकता है। खासतौर से ग्रामीण क्षेत्रों में और अधिक जागरूकता की जरूरत है। मुख्य अतिथि तारकेश्वरी सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के पास एक अच्छा तंत्र है जिसकी मदद से तम्बाकू निषेध अभियान को सफल बनाया जा सकता है। जनसहभागिता से ही ऐसे अभियान सफल हो सकते हैं।

गोष्ठी को जिला स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी ओपीजी राव, जिला मलेरिया अधिकारी डा. एके पांडेय, डा. प्रतीक श्रीवास्तव, पंचम राम, धीरेंद्र द्विवेद्वी और रामेंद्र त्रिपाठी ने भी संबोधित किया। संचालन बसंत कुमार श्रीवास्तव ने किया। इस अवसर पर एमसीडी सेल से अजय सिंह, मानसिक रोग विभाग से डा. अमित शाही, संजीव कुमार, विष्णु शर्मा और प्रदीप वर्मा प्रमुख रूप से मौजूद रहे। अलग-अलग स्थानों से आई स्टाफ नर्स, सीएचओ, प्राधिकरण के कर्मचारीगण और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने गोष्ठी में भाग लिया।

तम्बाकू मुक्त परिसर घोषित होंगे

सीएमओ ने बताया कि शासन से इस बात के निर्देश भी प्राप्त हुए हैं कि जिले के सभी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर को येलो लाइन कैंपेन के माध्यम से तम्बाकू मुक्त परिसर घोषित किया जाए। अति शीघ्र इस दिशा में शासन से मिले निर्देशों के क्रम में कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि फिलहाल 30 हेल्थ एंड वेलनेस सब सेंटर जनपद में संचालित हैं जबकि 105 नये सब सेंटर के चयन की प्रक्रिया चल रही है।

गोष्ठी के संदेश

· कैंसर से मरने वालों में 40 फीसदी तंबाकू सेवन करने वाले हैं।

· तम्बाकू में 1000 जहरीले तत्व होते हैं जो अलग-अलग बीमारियों के कारक हैं।

· तम्बाकू सेवन से ह्रदय रोग, टीबी, लकवा, कम उम्र में नपुंसकता, दृष्टीहीनता और फेफड़े की बीमारियां हो जाती हैं।

· बालों के झड़ने, पेट के अल्सर, बदरंग उंगलियों और गैंगरीन का कारक भी तम्बाकू सेवन है।

· तम्बाकू का सेवन किसी भी रूप में किया जाए, घातक ही होता है।

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz