स्वास्थ्य

क्षय रोगी की तलाश में घर घर दस्तक

हर टीम ने पचास घरों पर दिया दस्तक

देवरिया, पुनरीक्षित राष्ट्रीय क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अन्तर्गत सक्रिय क्षय रोग खोज अभियान का पांचवां चरण मंगलवार से जनपद में शुरू हो गया. इसके लिए गठित 105 टीमों में प्रत्येक टीम ने एक दिन में 50 घरों पर दस्तक देकर बीमारी के लक्षण बता पूछताछ की. वहीँ जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ बीरेंद्र झा ने कई टीमों के साथ अभियान का निरीक्षण किया और सुपरवाईजरों को निर्देश दिया.

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ बीरेंद्र झा ने जिला कार्यक्रम समन्वयक देवेंद्र सिंह के साथ बरहज के परासिया देवार,  महेंन, भलुअनी, परासिया चंदौर सहित दर्जनों  गांवों में जाकर टीबी के रोगी खोज रही टीमों का पर्यवेक्षण किया. यहां टीम के सदस्यों को घरों पर सही तरीके से मार्किंग करने के निर्देश दिए. इस दौरान उन्होंने खुद घरों में जाकर लोगों से बातचीत किया. इसके बाद लोगों को बताया कि यदि परिवार के किसी सदस्य को लम्बे समय से बुखार और खांसी आ रही है, शरीर में थकन महसूस हो रही है, बलगम से खून आ रहा है तो ऐसे मरीज की जाँच की जाएगी. यदि जाँच में टीबी के लक्षण मिले तो उसका इलाज शुरू होगा। इसके बाद निक्षय पोर्टल पर पंजीकरण के बाद प्रति माह 500  रुपया भत्ता दिया जायेगा. जिला कार्यक्रम समन्वयक देवेंद्र सिंह ने बताया कि जनपद में 17 टीबी के यूनिट हैं जहां अभियान के दौरान टीबी लक्षण पाए जाने लोगों की जाँच की जाएगी और जिनका बलगम नहीं निकलता है उनकी एक्सरे से जाँच की जाती है.

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz