साक्षात्कार

चांद का नहीं हुआ दीदार, माह-ए-रमजान का आगाज 7 से

गोरखपुर। रविवार को पवित्र रमज़ान का चांद नहीं दिखा। मौसम एकदम साफ था। जिले के उलेमा व अवाम ने चांद देखने की कोशिश की लेकिन चांद का दीदार नहीं हुआ। लिहाजा पवित्र रमजान का आगाज व पहला रोजा मंगलवार 7 मई से शुरू होगा। तरावीह की नमाज सोमवार 6 मई को रात से शुरू हो जायेगी।

उलेमा ने पुष्टि कर दी है कि मुल्क में नहीं देखा गया है पवित्र रमज़ान का चांद। रमज़ान का पहला अशरा (दस दिन) रहमत का होता है। रमज़ान के पहले दस दिन अल्लाह की रहमत बरसती है। सोमवार को अकीदतमंद नहा-धोकर, इत्र लगाकर, अच्छा लिबास पहनकर मस्जिदों में पहुंचेगे और रात की एशा नमाज के बाद तरावीह की 20 रकात नमाज अदा करेंगे। मस्जिदों में अकीदतमंदों की लंबी कतारें देखने को मिलेंगी। मदरसा दारुल उलूम हुसैनिया दीवान बाजार, मुबारक खां शहीद मस्जिद नार्मल सहित तमाम छोटी-बड़ी मस्जिदों में तरावीह की नमाज के दौरान भारी भीड़ उमड़ेगी। औरतें घरों में नमाज अदा करेंगी। घरों व इबादगाहों में कुरआन शरीफ की तिलावत शुरू हो जायेगी। मुसलमान अल्लाह की हम्द व सना बयां करेंगे और अल्लाह की इबादत में मश्गूल हो जायेंगे। तंजीम उलेमा-ए-अहले सुन्नत द्वारा जारी रमज़ान हेल्प लाइन नम्बर पर कॉल आनी शुरू हो गई है। पहले दिन ज्यादातर मसले जकात को लेकर पूछे गए। चांद के मुताल्लिक भी लोगों ने जानकारियां ली। सात मस्जिदों में तीस दिनों तक चलने वाला रमज़ान का विशेष दर्स मंगलवार से शुरु होगा।

दरगाह का ऐलान नहीं दिखा रमजान का चांद

दरगाह हजरत मुबारक खां शहीद नार्मल स्थित तंजीम उलेमा-ए-अहले सुन्नत की एक मीटिंग रविवार को दरगाह परिसर में हुई। जिसमें उलेमा-ए-किराम ने शिरकत की। मीटिंग में रमज़ान के चांद की पुष्टि के लिए मदरसों व खानकाहों से संपर्क कायम किया गया लेकिन चांद की कोई पुष्टि कहीं से नहीं हुई। इसलिए तंजीम ने ऐलान किया कि पहला रोजा मंगलवार 7 मई से शुरू होगा। तरावीह की नमाज सोमवार रात से पढ़ी जाएगी। मीटिंग में मुफ्ती खुर्शीद अहमद मिस्बाही (काजी-ए-गोरखपुर), मुफ्ती अख्तर हुसैन (मुफ्ती-ए-गोरखपुर), मौलाना मकसूद आलम मिस्बाही, मुफ्ती मो. अजहर शम्सी (नायब काजी गोरखपुर), कारी अंसारुल हक, कारी शराफत हुसैन कादरी, मौलाना रियाजुद्दीन, मौलाना हिदायतुल्लाह सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

सहरी-इफ्तार की दुकानें तैयार

मुस्लिम बहुल क्षेत्रों खोखरटोला, पिपरापुर, शेखपुर, तिवारीपुर, गाजी रौजा, रहमतनगर, नखास, तुर्कमानपुर, रहमतनगर, पुराना गोरखपुर, जमुनहिया, रसूलपुर, गोरखनाथ, जाफरा बाजार, चक्शा हुसैन, मदीना मस्जिद, बक्शीपुर, निजामपुर, इलाहीबाग, रेती, घंटाघर में सहरी व इफ्तार की विशेष दुकानें करीब-करीब तैयार हो चुकी है। इसके अलावा साहबगंज से भी इफ्तार व सहरी के सामान खरीदे जा रहे है। नखास पर खजूरों व सेवाईयों की दुकानें सज गई है। लोगों ने इनकी खरीददारी शुरू कर दी है। आसपास के गांवों के लोग भी खरीददारी करने के लिए शहर की तरफ रुख किये हुए है।

इसके अलावा इबादतगाहों व घरों में साफ-सफाई मुकम्मल हो चुकी है। रमज़ान की आमद से बाजार में रौनक-ए-बहारा नजर आने लगी है। खासकर उर्दू बाजार, शाहमारूफ, घंटाघर, गोलघर, रेती, गीता प्रेस, गोरखानाथ, गोलघर, नखास में रौनक देखते ही बन रही है। चूंकि रमजान में लोग इबादत को खास तवज्जों देते है इसलिए खरीददारी अभी से शुरू कर दी है। ताकि इबादत में खलल न पड़े।

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz