राज्य

नोटबंदी की बरसी की पूर्व संध्या पर पदयात्रा कर मोदी सरकार को कोसा

  • 8
    Shares

गोरखपुर. पूर्वांचल सेना ने नोटबंदी के 2 वर्ष पूरा होने के पर 7 नवम्बर को नोट बंदी से हुई देश की बदहाली की समीक्षा कराने और 2 वर्ष बीत जाने के बाद नोटबंदी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश की जनता को जवाबदेही की मांग को लेकर शहर में पदयात्रा निकाली.

दोपहर 12 बजे से मुंशी प्रेमचंद पार्क मुख्य द्वार से निकली यह पदयात्रा बेतियाहाता चौक, शास्त्री चौक के रास्ते शहर के मुख्य मार्गो से गुजरते हुए अंबेडकर चौक पर जाकर समाप्त हुई । पदयात्रा में शामिल पूर्वांचल सेना के नौजवानों ने “देश का दिवाला है- नोटबंदी घोटाला है”, “प्रधानमंत्री जिमेदारी लें-जवाब दें”, ” देश को अंधेरे में रखना बंद करो” , “नोटबंदी घोटाले की जांच कराओ” “वित्त मंत्री शर्म करो”, “पूर्वांचल सेना जिंदाबाद” के नारे लगाये.

पदयात्रा में नोटबन्दी त्रासदी झेले तमाम राहगीरों ने भी पदयात्रा में शामिल होकर नोट बंदी पर प्रधानमंत्री के जवाबदेही की मांग की आवाज को बुलंद किया ।

इस कार्यक्रम का नेतृत्व पूर्वांचल सेना के जिलाध्यक्ष सुरेंद्र वाल्मीकि ने किया. इस मौके पर पूर्वांचल सेना के अध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि “एक बेहतर देश , भ्रष्टाचार मुक्त अर्थव्यवस्था की उम्मीद के लिए तमाम दुश्वारियां झेलते हुए भूखे रहकर देश की जनता ने देश में नरेंद्र मोदी द्वारा की गई नोटबंदी में साथ दिया दिया था, लेकिन आज नोटबंदी के 2 वर्ष पूरे हो रहे हैं और देश की जनता अपने को ठगा हुआ महसूस कर रही है । इसलिए आज हम पूर्वांचल सेना के नौजवान जनता की आवाज बनकर नोटबंदी से हुए नुकसान फायदों की समीक्षा और नोट बंदी पर प्रधानमंत्री की जवाबदेही की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं.
उन्होंने कहा कि बिना तैयारी के अचानक नोटबंदी करके नरेंद्र मोदी ने पूरे देश में भयानक आर्थिक संकट खड़ा कर दिया जिसका परिणाम हुआ की सैकड़ों लोग लाइन में खड़े होकर मारे गए , पैसे होने के बावजूद पैसे के अभाव में लाखों लोग अस्पताल में इलाज न होने , भूख से मारे गए , लाखो शादियां टूट गई, लाखों लोग बेरोजगार हो गए छोटे-मोटे कामगारों से लेकर बड़े-बड़े उद्योग धंधे चौपट हो गए. काले धन वाला एक भी व्यक्ति बर्बाद नहीं हुआ.

पदयात्रा में प्रशांत कुमार, सनी निषाद, राजकुमार, देवानंद सिंह, कमलेश कुमार, सोनू बौद्ध, अमित सिंघानिया, योगेंद्र प्रताप, मंजेश कुमार, विशाल राजा, राजेश निषाद, रोहन यादव , सोमनाथ भारती, पंकज कुमार, मनीष सिंह, मंजेश कुमार, सत्येंद्र प्रताप, जितेंद्र प्रताप , प्रदीप कुमार , गणपतराव , रविन्द्र कुमार व अभिषेक कुमार आदि शामिल हुए.