राज्य

भय और आतंक में जीने को मजबूर यूपी की जनता-अजय कुमार लल्लू

लखनऊ. प्रदेश में बेलगाम हो रही सत्ता का चरित्र उजागर हो रहा है जिसके कारण पुलिस अंधी हो गयी है और जनता पुलिस तथा गुण्डों की चक्की में पिस रही है।
यह बातें कांग्रेस विधान मंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में कही। कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू ने प्रदेष की राजधानी में पुलिस की गोली से एपल के मैनेजर विवेक की मौत पर सरकार को आड़े हाथो लेते हुए कहा कि यूपी की जनता भय और आंतक में जीने को मजबूर है। गुण्डाराज और भ्रष्टाचार का नारा देकर सत्ता में आयी भाजपा का चरित्र धीरे-धीरे बेनकाब हो रहा है। पुलिस का चरित्र बदल रहा है, जिनके कंधों पर समाज की सुरक्षा की जवाबदेही है, वे वाहवाही बटोरने के लिए बेखौफ मानवाधिकारों का उलंघन कर रहे हैं।

उन्होनें कहा कि पिछले वर्ष फर्जी एनकाउंटर की आड़ में नोएडा में एक युवक की हत्या करने का पुलिस ने प्रयास किया था और जेल में पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में मुन्ना बजरंगी की हत्या हो गयी। तीसरा मामला लखनउ का है जहां पर पुलिस ने एपल के मैनेजर के सिर में गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था बदतर स्थिति में है। इसकी नैतिक जिम्मेवारी मुख्यमंत्री की है जो गृह विभाग की व्यवस्था भी संभाल रहे हैं। नैतिकता के आधार पर मुख्यमंत्री को इस्तीफा दे देना चाहिए।