समाचार

शिक्षा में नफरत का ज़हर देश को बरबाद कर देगा : मौलाना अब्दुल वाहिद मदनी

 

गैंसड़ी, बलरामपुर। शिक्षा समावेशी, प्रेम और स्नेह से परिपूर्ण, देश की बहुलतावादीवादी संस्कृति के अनुरूप ,सामाजिक समरसता और धर्म निरपेक्षता को मजबूत बनाने वाली होनी चाहिए। शिक्षा में नफरत का ज़हर देश को बरबाद कर देगा। हम सबको गांधी ,नेहरू,सरदार भगत सिंह,मौलाना अबुल कलाम आजाद,ए पी जे अब्दुल कलाम साहब के सपनों के भारत का निर्माण करना है।

यह विचार देश के जाने माने इस्लामिक स्कॉलर और सफ़ा इंस्टिट्यूट डुमरियागंज के फाउंडर मौलाना अब्दुल वाहिद मदनी ने व्यक्त किया। मौलाना मदनी  “क्षेत्र में शिक्षा का स्तर,सामाजिक सरोकार और चुनौतियां”विषयक एक तालीमी सेमिनार में बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे।सेमिनार का आयोजन सोशल एंड इकोनॉमिक वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा नूर पब्लिक इंटरकालेज ,गैंसड़ी में किया गया था।

मौलाना मदनी ने कहा कि दुनिया उन्हें याद करती है जो देश और समाज के लिए खुद को समर्पित कर देते हैं। जैसे सर सय्यद साहेब,ऐ पीजे अब्दुल कलाम,गांधी आदि। आलोचना का हक उन्हें है जो खुद कुछ करते हैं।उन्हें कत्तई नहीं जो सिर्फ काम करने वालों में कमियां ढूढते हैं।

विशिष्ट अतिथि एम एल के कॉलेज के प्रोफेसर प्रतीक मिस्र ने कहा कि छात्रों को चुनौतियों का सामना करना चाहिए उससे भयभीत नहीं होना चाहिए।

तालीमी बेदारी के प्रदेश अध्यक्ष और वरिष्ठ पत्रकार सग़ीर ए खाकसार ने अपने संबोधन में कहा कि प्राथमिक शिक्षा में गुणवत्ता बहुत ज़रूरी है।अफसोस कि बात है देवीपाटन मंडल में शिक्षा की स्थिति चिंताजनक है।श्रावस्ती का साक्षरता प्रतिशत करीब 46 फीसद और बलरामपुर और बहराइच ज़िले की साक्षरता दर करीब 49 प्रतिशत है। विकसित देशों की तुलना में हमारा शिक्षा बजट भी कम है।अमेरिकी सरकार प्राइमरी स्तर के प्रति बच्चों पर करीब सात लाख रुपये खर्च करती है।प्रतिस्पर्धा के इस दौर में हमारे छात्र आत्म हत्या कर रहे हैं।सरकार को युवाओं के स्वास्थ्य खासतौर पर मानसिक स्वस्थ्य पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।

इप्सा नई दिल्ली के सचिव डॉ जावेद आलम खान ने कहा कि कुछ प्रदेशों में शिक्षा का स्तर बहुत बढ़िया है। यूपी और खास तौर से देवीपाटन मंडल के जिलों में साक्षरता का प्रतिशत कम है।शिक्षा के लिए व्यापक स्तर पर योजनाओं और उनके क्रियान्वयन की आवश्यकता है।

सेमिनार को अमरेंद्र गुप्ता, आद्या प्रसाद पांडेय,गंगा राम यादव,डॉ अयूब,हारून खान,महबूब आलम खान,शाहिद आलम,राजेश कुमार सिंह,पवन कुमार शर्मा,राजेश सिंह,अनुज कुमार सिंह,आदि ने भी संबोधित किया।अध्यक्षता शफीक अख्तर ने और संचालन जावेद अशरफ ने किया।

इस अवसर पर कालेज के मेधावी छात्रों को सम्मानित भी किया गया।नूर पब्लिक इंटरकालेज के प्रबंधक और तालीमी बेदारी के तहसील अध्यक्ष खुर्शीद अहसन खान ने आये हुए अतिथियों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए धन्यबाद ज्ञापित किया।

Leave a Comment