समाचार

रेलवे ने कहा – न्यू पेंशन स्कीम की कटौती पूरी तरह सुरक्षित

  • 8
    Shares

रेलवे अधिकारी क्लब,गोरखपुर में संगोष्ठी का आयोजन
प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी का दावा -‘भ्रम है कि यह पेंशन योजना कार्मिक विरोधी है’
2004 से लागू पेंशन योजना का रेलकर्मी कर रहे विरोध

गोरखपुर 25 जुलाई: नयी पेंशन योजना का रेलवे व देश के श्रमिक संगठन लगातार विरोध कर रहे हैं. वर्ष 2004 से यह योजना रेलवे में लागू हुई. इसके विरोध को देखते हुए रेलवे कार्मिक विभाग ने न्यू पेंशन स्कीम के बारे में जानकारी देने के लिए रेलवे अधिकारी क्लब, गोरखपुर में एक संगोष्ठी का आयोजन किया.

संगोष्ठी के मुख्य अतिथि प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी एल बी राय ने कहा कि इस पेंशन योजना के बारे में काफी भ्रम फैलाया गया है कि यह कार्मिक विरोधी है और इसके लिए हो रही वेतन से कटौती असुरक्षित है.

इस अवसर पर अध्यक्ष, रेलवे भर्ती सेल ए के सिंह, उप मुख्य कार्मिक अधिकारी सी पी दूबे, वरिष्ठ रेल अधिकारी तथा भारी संख्या में रेल कर्मचारी उपस्थित थे.

श्री राय ने कहा कि वर्ष 2004 से नियुक्त रेलकर्मियों को न्यू पेंशन स्कीम की अर्हता में सम्मिलित किया गया है. इसकी कार्य प्रणाली एवं भुगतान पद्धति के बारे में अधिकांश रेल कर्मियों की जानकारी सीमित है. संगोष्ठी में न्यू पेंशन स्कीम के विभिन्न नियमों की जानकारी दी जायेगी जिससे इस स्कीम के बारे में उत्पन्न भ्रांति को दूर किया जा सकेगा. उन्होंने कहा कि कर्मचारियों का जमा राशि सुरक्षित है तथा उनके भविष्य के प्रति रेल प्रशासन काफी संवेदनशील है.

संगोष्ठी के मुख्य वक्ता पी के चतुर्वेदी, मुख्य कार्यालय अधीक्षक, कार्मिक विभाग ने कहा कि इस स्कीम के अन्तर्गत आने वाले रेल कर्मियों के वेतन की 10 प्रतिशत राशि पेंशन के मद में कटौती होती है तथा सरकार द्वारा इतनी ही राशि बतौर नियोजक इस मद में डाली जाती है. उन्होंने बताया कि न्यू पेंशन स्कीम के अर्ह रेल कर्मियों को नेशनल सिक्योरिटी एण्ड डिपोजिट्री लिमिटेड में अपना रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है. जिससे उनके पक्ष में परमानेंट रिटायरमेंट एकाउण्ट नम्बर आवंटित हो जायेगा. इस नम्बर का पास वर्ड प्राप्त कर आवंटित रेलकर्मी अपनी पेंशन कटौती की जमा धनराशि के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है.

श्री चतुर्वेदी ने बताया कि 10 वर्ष के अन्तराल पर रेलकर्मी इस मद का कुछ अंश निकाल सकता है. उन्होंने इस दौरान उपस्थित रेल कर्मियों की शंकाओं का भी समाधान किया.

सहायक लेखाधिकारी के के राय ने पूर्वोत्तर रेलवे मुख्यालय एवं तीनों मंडलों में न्यू पेंशन स्कीम के अन्तर्गत कार्यरत रेलकर्मियों का ब्यौरा प्रस्तुत करते हुए कहा कि इस स्कीम को और अधिक सरल बनाया गया है ताकि रेलकर्मी अपने अंशदान से भलीभांति परिचित रहें. श्री राय ने न्यू पेंशन स्कीम के अन्तर्गत आने वाले रेलकर्मियों का आह्वान किया कि वे अपना परमानेंट रिटायरमेंट एकाउण्ट नम्बर आवंटित करा ले साथ ही साथ अपने उत्तराधिकारी तथा मोबाइल नम्बर का उल्लेख अवश्य करें ताकि उनकी जमा धनराशि को सुरक्षित किया जा सके.

इस अवसर पर स्टाफ होल्डिंग कारपोरेशन, लखनऊ के प्रतिनिधियों ने सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थानों में निवेश के विभिन्न क्षेत्रों पर विस्तार से चर्चा करते हुए रेलकर्मियों को निवेश हेतु प्रोत्साहित किया. ए के सिंह, अध्यक्ष, रेलवे भर्ती सेल ने संगोष्ठी का संचालन करते हुए संगोष्ठी की उपादेयता पर प्रकाश डाला तथा इस संगोष्ठी को रेलकर्मियों की समस्याओं के निदान की दिशा में एक सार्थक पहल बताया.

Add Comment

Click here to post a comment