स्वास्थ्य

कुपोषण के खिलाफ सुपोषण का अलख जगा रही रानी 

आंगनबाड़ी कार्यकत्री रानी मिश्रा

पोषण माह पर विशेष

आंगनबाड़ी केंद्र पर आने वाली गर्भवती महिलाओं को दे रही पौष्टिक आहार

महिलाओं को स्तनपान के लिये कर रहीं प्रेरित 

नीरज

देवरिया । बच्चों को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए बहुत कम संसाधनों में भी  आंगनबाड़ी कार्यकर्ता रानी मिश्रा सुपोषण की अलख जगा रही हैं। घर-घर जाकर बच्चों का वजन लेना, महिलाओं को स्तनपान के प्रति प्रेरित करना रानी  का प्रतिदिन का कार्य है। आंगनबाड़ी केंद्र पर आने वाली गर्भवती महिलाओं को भी सलाह देती हैं कि वह पौष्टिक आहार लेती रहें ताकि उनका बच्चा पूरी तरह स्वस्थ पैदा हो।

सदर ब्लाक के कतरारी आंगनबाड़ी केंद्र की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता  रानी मिश्रा की मेहनत का नतीजा यह रहा कि जनवरी 2019  से अबतक उनके केंद्र पर पंजीकृत किसी भी गर्भवती महिला ने अति कुपोषित बच्चे को जन्म नहीं दिया। रानी बताती हैं कि जनवरी से अबतक पंजीकृत पांच के पांच बच्चे स्वस्थ हुए। उनका कहना है कि माताओं को पौष्टिक आहार और स्वच्छता के प्रति सलाह देने का परिणाम है कि अब हमारे केंद्र पर महिलाओं की भीड़ लगी रहती है। उन्होंने बताया कि सुपोषण के प्रति जागरूकता का कारण रहा कि 14 फरवरी 2019 को  केंद्र पर पंजीकृत छेरियहवा निवासी रीता ने  घर पर ही स्वस्थ बेटी को जन्म दिया, वहीं 2 मार्च  को उसी गांव की रंजू यादव को स्वस्थ बेटा, 3  मई को पंकज को स्वस्थ बेटी, 22 जून को कतरारी निवासी सुमन देवी को स्वस्थ बेटा तो 27 जुलाई को  गुड़िया यादव ने स्वस्थ बेटे को जन्म दिया। रानी बताती है कि सभी को सही पोषण की जानकारी देती रहती हूँ। घर-घर जाकर महिलाओं को स्तनपान के प्रति प्रेरित करना और बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए उन्हें सलाह देती रहती हूं ताकि कोई बच्चा बीमार न हो। उन्होंने बताया की वर्तमान में ने केंद्र पर तीन गर्भवती महिलाएं पंजीकृत हैं। जिनके पोषण का विशेष ख्याल रखा जाता है

जागरूकता का दिख रहा असर

सीडीपीओ दयाराम ने कहा कि आंगनबाड़ी केंद्र कतरारी पर बच्चों, किशोरियों सहित गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया जाता है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता रानी मिश्रा के नेतृत्व में गांवों में जागरूकता कार्यक्रम चलाये जाते हैं। लोगों को पौष्टिक आहार के सेवन की सलाह दी जाती है। जिसके कारण इस वर्ष अबतक एक भी कुपोषित बच्चों की संख्या नहीं है।

स्तनपान के साथ दे रही अर्द्ध ठोस आहार

लाभार्थी रंजू यादव ने बताया कि  अपने बच्चे को स्तनपान के अलावा ठोस आहार भी  देती हैं । बच्चे के लिए जरूरी मात्रा में विटामिन्स और मिनरल्स के साथ-साथ प्रोटीन्स, फैट्स, आयरन और काबोर्हाइड्रेट की आपूर्ति होना जरूरी है। उन्हें मुख्य आहार के बीच ड्राई फ्रूट्स या कच्ची सब्जियां, दही और ब्रेड स्टिक खाने को दें। 

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz