समाचार

भारत बंद के दौरान पीएम का पुतला फूंकने पर पूर्वांचल सेना के अध्यक्ष सहित सात गिरफ्तार

गोरखपुर. बढ़ती मंहगाई,  गैस, पेट्रोल और डीजल के दाम में बेतहाशा वृद्धि के खिलाफ भारत बंद के दौरान प्रधानमंत्री का पुतला फूंककर विरोध प्रदर्शन कर रहे पूर्वांचल सेना के अध्यक्ष धीरेन्द्र प्रताप को उनके सात सहयोगियों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया.

कैंट प्रभारी रवि राय ने कहा कि इन लोगों ने पुतला दहन कर आपराधिक कृत्य किया हैं जिसके कारण इनके ऊपर आपराधिक केस दर्ज किया जाएगा.

पूर्वांचल सेना के कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी की जानकारी मिलने पर कांग्रेस नेता डॉ.सैयद जमाल, नगर अध्यक्ष अरुण अग्रहहरी, जिलाध्यक्ष सहित तमाम कार्यकर्ता कैंट पहुंचे और गिरफ्तारी का विरोध किया.

गिरफ्तारी के विरोध में एक बैठक विशवविधालय के पंत पार्क में अम्बेडकर स्टूडेंट यूनियन फ़ॉर राइट्स एवम पूर्वाचल सेना के कार्यकार्ताओं की हुई. बैठक में पूर्वाचल सेना के राष्ट्रीय महासचिव एवं संयोजक प्रणय कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि मैंने अब तक ऐसी तानाशाही भरी सरकार नही देखी जहा पर आप किसी भी प्रकार का प्रदर्शन नही कर सकते. प्रतीकात्मक पुतला फूंककर विरोध प्रदर्शन करना हमारा लोकतांत्रिक अधिकार हैं . पुतला फूंकने को संज्ञेय अपराध घोषित करना घोर तानाशाही का परिचायक हैं.

उन्होंने कहा कि छात्रसंघ चुनाव चल रहा हैं, पूर्वाचल सेना की छात्रसंघ चुनाव में जबरदस्त भागीदारी को देखते हुए यह गिरफ्तारी की गई हैं. उन्होंने छात्र संगठनों से आह्वान करते हुए कहा कि यदि पूर्वांचल सेना अध्यक्ष सहित कार्यकर्ताओ को नही छोड़ा गया तो एक जबर्दस्त आंदोलन किया जायेगा.

बैठक का संचालन सेना के जिलाध्यक्ष सुरेंद्र बाल्मीकि ने व अध्यक्षता गोरखपुर विश्वविद्यालय के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ रहे भास्कर चौधरी ने की.

Leave a Comment