समाचार

छोटी गंडक नदी के अथरहा घाट पर पुल बनवाने के लिये सामजिक कार्यकर्ता निजामुद्दीन अनशन पर बैठे

कुशीनगर, 12 जून. हाटा तहसील क्षेत्र के छोटी गंडक नदी पर अथरहा घाट पर पक्का पुल बनवाने के लिये सामजिक कार्यकर्ता निजामुद्दीन ने आज से अथरहा घाट पर आमरण अनशन शुरू कर दिया.

इस घाट पर स्थानीय लोगों द्वारा लम्बे समय से पुल बनाने की मांग की जा रही है. स्थानीय लोग कई बार  धरना -प्रदर्शन व आमरण अनशन कर इस मांग को उठा चुके हैं लेकिन अभी तक पुल बनाने का ठोस आश्वासन भी जन प्रतिनिधियों और प्रशासन द्वारा नहीं दिया गया है.

छोटी गंडक पर पुल न बनने से हाटा तहसील व जिला मुख्यालय जाने के लिये लोगों को 12 किलोमीटर दूरी का चक्कर लगाना पडता है. कसया तहसील के पुरैनी, बडहरा, लक्ष्मीपुर आदि गांवों के लोग मोतीचक ब्लाक पर जाने के लिये  6 किलोमीटर की दूरी तय कर के पहुँच जायेंगे  नही तो इनको रगडगज पुल पार कर के मथौलीबाजार हो कर जाना पडता है . छोटी गंडक  कप्तानगंज-मोतीचक ब्लाक व हाटा तहससील के गांवों के बीच से हो कर बहती है. मथौली बाजार क्षेत्र के 12 गांव  मुडिला, सिकटीया, फर्दमुडेरा, लोहेपार, पुरैनी बिजयपुर , राजपुर, बनटोलवा, लक्ष्मीपुर, बडहरा ,  दुबौली , गौनरिया मदरहा, सिरसिया अजीजनगर, सतभरिया के हजारों लोग मोतीचक ब्लाक के गाव अथरहा के सामने  नदी को पार कर हाटा , कप्तानगज या जिला मुख्यालय  पडरौना के लिये  आते-जाते हैं. इनमें बडी संख्या में स्कूली बच्चे शिक्षा ग्रहण करने मथौली बाजार  पीजी कालेज मे जाते है और हाटा कप्तानगज भी जाते है .नदी पर पुल का नहीं होना सबके लिए बड़ी समस्या है.

इन समस्याओं को देखते हुऐ सामाजिक कार्यकर्ता मुडिला हरपुर निवासी निजामुद्दीन ने  अथरहा घाट पर मंगलवार से आमरण अनशन  शुरु कर दिया. उनके समर्थन में रामप्रवेश  मौर्य ,परशुराम कुशवाहा, प्रदीप कुशवाहा, अरविन्द, पिंटू,  मारकंडेय यादव आदि लोग भी आज धरने पर बैठे.

Leave a Comment