Templates by BIGtheme NET
Home » Tag Archives: मदन मोहन

Tag Archives: मदन मोहन

मार्क्स का चिंतन सिर्फ आर्थिक नहीं सम्पूर्ण मनुष्यता का चिंतन है: रामजी राय

marx and our time 3

गोरखपुर। मार्क्स ने मुनष्य को एक समुच्चय में नहीं एक सम्पूर्ण इकाई के रूप में समझा और कहा कि वह एक ही समय में आर्थिक, राजनीतिक, दार्शनिक, सांस्कृतिक होता है। उसे टुकड़ो-टुकड़ों में अलग-अलग नहीं देख सकते। सम्पूर्णता की अवधारणा मार्क्स की यह अवधारणा उस समय के दर्शन में मौजूद नहीं थी। मार्क्स का चिंतन सिर्फ आर्थिक चिंतन नहीं सम्पूर्ण ...

Read More »

केदारनाथ सिंह के काव्य वैशिष्टय का अनुकरण नहीं किया जा सकता: प्रो विश्वनाथ प्रसाद तिवारी

kedarnath singh_smriti sabha 3

साहित्यकारों, बुद्धिजीवियों, संस्कृतिकर्मियों ने प्रख्यात कवि केदारनाथ सिंह को भावभीनी श्रद्धांजलि दी गोरखपुर, 21 मार्च। प्रेमचन्द पार्क में आज दोपहर बड़ी संख्या में जुटे साहित्यकारों, बुद्धिजीवियों, संस्कृतिकर्मियों ने प्रख्यात कवि केदारनाथ सिंह को भावभीनी श्रद्धांजलि दी और यादें सांझा की। यह आयोजन प्रगतिशील लेखक संघ, जन संस्कृति मंच, जनवादी लेखक संघ, प्रेमचन्द साहित्य संस्थान, भोजपुरी संगम, संगम, सुधा संस्मृति संस्थान, ...

Read More »

भारतीय किसान की मृत्यु का शोकगीत है ‘ गोदान ’ -प्रो गोपाल प्रधान

Gopal pradhan _premchand jayanti

प्रेमचन्द जयंती पर ‘ प्रेमचन्द और किसान ’ पर व्याख्यान अलख कला समूह ने ‘ गुल्ली डंडा ’ का मंचन किया गोरखपुर, 31 जुलाई। प्रेमचन्द हिन्दी साहित्य के इतिहास में सबसे बड़े रचनाकार हैं। विषय वस्तु व कला दोनों के मामले में। प्रेमचन्द के साहित्य के केन्द्र में किसान इसलिए नहीं हैं कि वह किसानों की पूजा करते हैं बल्कि ...

Read More »

मनुष्य को सम्पूर्ण रूप में जीते हुए देखने की लालसा रखने वाले कथाकार हैं रवि राय-प्रो रामदेव शुक्ल

IMG-20170526-WA0004

कथाकार रवि राय के कहानी संग्रह बजरंग अली का लोकार्पण और उस पर बातचीत विमर्शो का शोर नहीं, जीवन, समाज और उसकी सहज स्वभाविक मानवीय क्रियाओं और प्रवृत्तियों का विश्वसनीय आख्यान हैं रवि राय की कहानियां-प्रो अनिल राय कथातत्व के रूप में हैं रवि की कहानियों में विमर्श और प्रतिरोध-मदन मोहन प्रेमचंद साहित्य संस्थान ने किया आयोजन गोरखपुर, 26 मई। ...

Read More »

वरिष्ठ कथाकार मदन मोहन को प्रेमचंद स्मृति कथा साहित्य सम्मान

madan mohan

उपन्यास ‘ जहाँ एक जंगल था ’ पर दिया गया यह सम्मान बांदा की प्रसिद्ध साहित्यिक संस्था ‘ शबरी ’ देती है यह सम्मान  गोरखपुर, 9 अप्रैल। बाँदा की प्रतिष्ठित साहित्यिक संस्था ‘ शबरी ’ ने वरिष्ठ कथाकार मदन मोहन को वर्ष 2015 का मुंशी प्रेमचंद स्मृति कथा साहित्य सम्मान देने की घोषणा की है। यह सम्मान 14 अप्रैल को ...

Read More »