Tag - #premchand sahitay sansthan

समाचार साहित्य - संस्कृति

प्रेमचंद हमारे इतिहास के नायक थे और हमारे अपने वक्त के भी नायक हैं : प्रो अनिल राय

प्रेमचंद जयंती पर प्रेमचंद पार्क में प्रेमचंद और आज का समय पर व्याख्यान, नाटक व दास्तानगोई का आयोजन गोरखपुर, 31 जुलाई। प्रेमचंद अपने समय के बड़े सवालों से...

समाचार साहित्य - संस्कृति

प्रेमचंद जयंती पर प्रेमचंद पार्क में व्याख्यान, दास्तानगोई और नाटक का आयोजन

गोरखपुर. प्रेमचंद साहित्य संस्थान ने 31 जुलाई को प्रेमचंद जयंती पर प्रेमचंद पार्क में व्याख्यान, दास्तानगोई और नाटक के मंचन का आयोजन किया है. यह जानकारी...

समाचार साहित्य - संस्कृति

बारिश के बीच अलख कला समूह ने किया नाटक “ सदाचार की ताबीज ” का मंचन

गोरखपुर, 2 जुलाई. अलख कला समूह द्वारा आयोजित 15 दिवसीय नाट्य कार्यशाला के उपरांत तैयार नाटक “सदाचार की ताबीज” का मंचन मुंशी प्रेमचंद पार्क में बने मुक्ताकाशी...

विचार समाचार साहित्य - संस्कृति

भारतीय किसान की मृत्यु का शोकगीत है ‘ गोदान ’ -प्रो गोपाल प्रधान

प्रेमचन्द जयंती पर ‘ प्रेमचन्द और किसान ’ पर व्याख्यान अलख कला समूह ने ‘ गुल्ली डंडा ’ का मंचन किया गोरखपुर, 31 जुलाई। प्रेमचन्द हिन्दी साहित्य के इतिहास में...

समाचार साहित्य - संस्कृति

प्रेमचन्द ने सरकारी नौकरी छोड़ने के बाद गोरखपुर में दो महीने करघा संघ चलाया था

मनोज कुमार सिंह प्रेमचन्द का गोरखपुर से गहरा सम्बन्ध है। उनके बचपन के चार वर्ष यहीं बीते तो जवानी के साढे चार वर्ष भी। वह गोरखपुर में पढे और यहां के नार्मल...

साहित्य - संस्कृति

प्रेमचन्द पार्क में ‘ अभी वही है निजामे कोहना ’ तो रैम्पस में ‘ सौत ’ का मंचन

गोरखपुर, 12 दिसम्बर। गोरखपुर की दो नाट्य संस्थाओं ने रविवार को दो नाटकों का मंचन किया। अलख कला समूह ने प्रेमचन्द पार्क में ‘अभी वही है निजामे कोहना...