Templates by BIGtheme NET
e_page_level_ads: true });
Home » Tag Archives: #premchand sahitay sansthan

Tag Archives: #premchand sahitay sansthan

बारिश के बीच अलख कला समूह ने किया नाटक “ सदाचार की ताबीज ” का मंचन

sadachar ka tabeej 5

गोरखपुर, 2 जुलाई. अलख कला समूह द्वारा आयोजित 15 दिवसीय नाट्य कार्यशाला के उपरांत तैयार नाटक “सदाचार की ताबीज” का मंचन मुंशी प्रेमचंद पार्क में बने मुक्ताकाशी मंच पर एक जुलाई को किया गया. बारिश के बावजूद न सिर्फ नाटक का मंचन हुआ बल्कि नाटक देखने अच्छी खासी संख्या में दर्शक भी पहुंचे. यह नाटक मशहूर लेखक हरिशंकर परसाई के ...

Read More »

भारतीय किसान की मृत्यु का शोकगीत है ‘ गोदान ’ -प्रो गोपाल प्रधान

Gopal pradhan _premchand jayanti

प्रेमचन्द जयंती पर ‘ प्रेमचन्द और किसान ’ पर व्याख्यान अलख कला समूह ने ‘ गुल्ली डंडा ’ का मंचन किया गोरखपुर, 31 जुलाई। प्रेमचन्द हिन्दी साहित्य के इतिहास में सबसे बड़े रचनाकार हैं। विषय वस्तु व कला दोनों के मामले में। प्रेमचन्द के साहित्य के केन्द्र में किसान इसलिए नहीं हैं कि वह किसानों की पूजा करते हैं बल्कि ...

Read More »

प्रेमचन्द ने सरकारी नौकरी छोड़ने के बाद गोरखपुर में दो महीने करघा संघ चलाया था

गोरखपुर के इसी घर में प्रेमचंद 18 अगस्त 1916 से 16 फरवरी 1921 तक रहे थे

मनोज कुमार सिंह प्रेमचन्द का गोरखपुर से गहरा सम्बन्ध है। उनके बचपन के चार वर्ष यहीं बीते तो जवानी के साढे चार वर्ष भी। वह गोरखपुर में पढे और यहां के नार्मल स्कूल में बच्चों को पढाया भी। यहीं पर उनकी मुलाकात महावीर प्रसाद पोद्दार से हुई जिन्होंने अपने कलकत्ता स्थित प्रकाशन हिन्दी पुस्तक एजेन्सी से प्रेमचन्द की ‘ प्रेम ...

Read More »

प्रेमचन्द पार्क में ‘ अभी वही है निजामे कोहना ’ तो रैम्पस में ‘ सौत ’ का मंचन

15327435_1159741284145941_2819286715041711923_n

गोरखपुर, 12 दिसम्बर। गोरखपुर की दो नाट्य संस्थाओं ने रविवार को दो नाटकों का मंचन किया। अलख कला समूह ने प्रेमचन्द पार्क में ‘अभी वही है निजामे कोहना ‘का मंचन किया तो इप्टा की गोरखपुर इकाई ने रैम्पस स्कूल के थियेटर हाल में प्रेमचन्द की कहानी ‘ सौत ‘ का नाट्य मंचन प्रस्तुत किया। प्रेमचन्द पार्क में रविवार को दोपहर ...

Read More »