समाचार

बीआरडी मेडिकल कालेज के पूर्व प्राचार्य डा. राजीव मिश्र के आवास में चोरी

  • 8
    Shares

गोरखपुर। आक्सीजन कांड में निलम्बित बीआरडी मेडिकल कालेज के पूर्व प्राचार्य डा. राजीव मिश्र के मेडिकल कालेज परिसर आवास का ताला तोड़ चोर कीमती सामान, नगदी व कागजात चुरा ले गए। इस वक्त डा. मिश्र और उनकी पत्नी इलाज के सिलसिले में दिल्ली में हैं। डा. मिश्र के बेटे डा. पूरक मिश्र ने कहा कि चोर आक्सीजन कांड से सम्बन्धित फाइलें व कागजात भी चुरा ले गए हैं।


डा. राजीव मिश्र को बीआरडी मेडिकल कालेज स्थित आवास संख्या 4/4 आवंटित है। आक्सीजन कांड में जेल से जमानत पर छूटने पर वह साीधे इसी आवास में आए थे। आवास की देखभाल उनकी गैरमौजूदगी में नौकरानी पुष्पा करती है।

डा. राजीव मिश्र और उनकी पत्नी डा. पूर्णिमा शुक्ल 4 सितम्बर को इलाज के सिलसिले में बेटे डा. पूरक मिश्र के साथ दिल्ली चले गए थे। नौकरानी पुष्पा तीज व्रत के कारण बुधवार को आवास की सफाई करने नहीं आई। गुरूवार की शाम जब वह आवास पर गई तो उसने दरवाजे की कुंडी टूटी पायी। उसने इसकी सूचना पूर्व प्राचार्य डा. राजीव मिश्र और पुलिस को दी।
मौके पर पहुंची पुलिस से पूरे घर का साामन बिखरा पाया। आलमारी, बक्से के ताले टूटे हुए थे।


घटना की जानकारी होने के बाद आज तड़के डा पूरक मिश्र आवास पर पहुंचे। उन्होंने गोरखपुर न्यूज लाइन को बताया कि घर के सभी कमरे के ताले तोड़ चोरी की गई है। चोरों ने इतमीनान से पूरे घर का खंगाला है। चोर जेवरात, कुछ नगदी और आलमारी में रखे आक्सीजन कांड के महत्वपूर्ण डाक्यूमेंट चुरा ले गए हैं। उन्होंने कहा कि घर में लैपटाप, कैमरा सुरक्षित मिला है। उन्होंने कहा कि वह आज इस घटना की एफआईआर दर्ज कराएंगें।
डा. राजीव मिश्र को आक्सीजन कांड में गिरफतार किए जाने के बाद उनके आवास के ताले को तोड़ने की कोशिश एक बार पहले भी की जा चुकी है।


बीआरडी मेडिकल कालेज में प्रिंसिपल आफिस सहित कई स्थानों पर आग लगने की घटनाएं और चोरियों का सिलसिला इस बात का संकेत है कि आक्सीजन कांड में अभी भी बहुत कुछ ऐसा है जिसके सामने आने से कुछ लोग डर रहे हैं।

Add Comment

Click here to post a comment