समाचार

हजरत मुबारक खां शहीद अलैहिर्रहमां के तीन दिवसीय उर्स-ए-पाक का आगाज 30 जून से

गोरखपुर। नार्मल स्थित दरगाह पर हजरत मुबारक खां शहीद अलैहिर्रहमां का सालाना उर्स-ए-पाक 30 जून और 1 व 2 जुलाई को अदब व अकीदत के साथ मनाया जायेगा।

यह जानकारी बुधवार को दरगाह कमेटी के अध्यक्ष इकरार अहमद ने दरगाह कार्यालय पर आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान दी। उन्होंने बताया कि उर्स-ए-पाक की शुरुआत 30 जून को रात 9:00 बजे से ‘जलसा-ए-ईद मिलादुन्नबी’ व ‘दस्तारबंदी’ कार्यक्रम के साथ होगी। जिसमें मुख्य अतिथि मुंबई के पीरे तरीकत अल्लामा सूफी अब्दुल लतीफ व विशिष्ट अतिथि इलाहाबाद के मौलाना शहादत हुसैन अवाम को संबोधित करेंगे। नात-ए-पाक छपरा के कारी अब्दुल वकील पेश करेंगे। संचालन मौलाना मकसूद आलम मिस्बाही व अध्यक्षता कारी शराफत हुसैन कादरी करेंगे।

‘जलसा-ए-ईद मिलादुन्नबी’ के बाद मदरसा दारुल उलूम अहले सुन्नत फैजान-ए-मुबारक खां शहीद के चार हिफ्ज के विद्यार्थियों गुलाम वारिस, अरशद रज़ा, मो. सैफ अली, मो. अबू शहमा की दस्तारबंदी (सनद देने की रस्म) मुख्य अतिथियों द्वारा होगी। भोर में मजार शरीफ पर गुस्ल व संदल पोशी की रस्म अदा की जायेगी।

एक जुलाई को बाद नमाज फज्र दरगाह पर कुरआन ख्वानी होगी। सुबह 11 बजे कुल शरीफ होगा। बाद नमाज मगरिब सरकारी चादर व गागर का जुलूस मोहल्ला बहरामपुर से इमामचौक मुतवल्ली एक्शन कमेटी के अध्यक्ष अब्दुल्लाह के दौलतखाने से निकाला जायेगा जो विभिन्न रास्तों से होता हुआ दरगाह पर समाप्त होगा। इसके बाद मजार पर सरकारी चादर चढ़ायी जायेगी। रात की नमाज के बाद कव्वाली का मुकाबला बदायूं के जुनेद सुल्तानी व मुंबई के सुल्तान नाज़ा के बीच होगा।

2 जुलाई को बाद नमाज फज्र कुरआन ख्वानी  होगी। सुबह 11 बजे आखिरी कुल शरीफ का कार्यक्रम होगा। बाद नमाज जोहर लंगर बांटा जायेगा। बाद नमाज एशा मेहमान कव्वालों के बीच कव्वाली का मुकाबला होगा। दरगाह कमेटी ने तमाम अकीदतमंदों से उर्स-ए-पाक के मौके पर अदा की जाने वाली रस्मों में शामिल होने की अपील की है। वहीं इस पुरकैफ माहौल में लोगों का मनोरंजन भी होगा। कमेटी ने इसका पूरा इंतजाम किया है। उर्स के मौके पर मेला सजकर तैयार हो रहा है। मेले में खान-पान व मनोरंजन के सामान मौजूद रहेंगे। बच्चों व बड़ों के लिए तमाम तरह के झूले लगेंगे। दरगाह पर 27 जून को सुबह 10 बजे खत्मे कुरआन का कार्यक्रम होगा।

उर्स-ए-पाक का विवरण

30 जून रविवार

उर्स-ए-पाक का आगाज रात 9:00 बजे जलसा-ए-ईद मिलादुन्नबी व दस्तारबंदी। भोर में मजार शरीफ का गुस्ल व सन्दल पोशी।

-1 जुलाई सोमवार

बाद नमाज फज्र कुरआन ख्वानी। सुबह 11 बजे कुल शरीफ। बाद नमाज मगरिब सरकारी चादर व गागर का जुलूस निकलेगा बहरामपुर से। बाद नमाज एशा कव्वाली का मुकाबला

-2 जुलाई मंगलवार

बाद नमाज फज्र कुरआन ख्वानी। सुबह 11:00 बजे कुल शरीफ। जोहर की नमाज के बाद लंगर बांटा जायेगा। बाद नमाज एशा  कव्वाली का मुकाबला होगा।

मिनजानिब अराकीने कमेटी आस्ताना-ए-आलिया हजरत मुबारक खां शहीद अलैहिर्रहमां नार्मल वक्फ नं. 151

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz