जनपद

प्रशिक्षित किए गए स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण समिति के सदस्य

महराजगंज.  सदर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सभागार में सोमवार को भी स्वास्थ्य, स्वच्छता तथा पोषण समिति के लोगों को प्रशिक्षित किया गया. प्रशिक्षण के दूसरे दिन आधा दर्जन ग्राम पंचायतों के लोगों को स्वच्छता के साथ साथ परिवार नियोजन सहित विभिन्न योजनाओं के प्रति जागरूक किया गया.

प्रशिक्षक श्रीभागवता सिंह ने कहा कि इन दिनों मच्छरों का प्रकोप बढ गया है. सभी गांवों में अनटायड फंड से फागिंग व छिङकाव कराया जाए. जेई एईएस से बचने लिए मच्छरदानी के प्रयोग पर बल दिया जाए.

उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण के दूसरे दिन ग्राम पंचायत सतभरिया, सेमरा राजा, गौनरिया बाबू, नटवा, मुजहना धनेवा धनेई की आंगनबाङी, आशा,एएनएम व ग्राम पंचायत के प्रतिनिधियों को प्रशिक्षित किया गया.

प्रशिक्षण के दौरान उपस्थित सभी प्रशिक्षणार्थियों को जननी सुरक्षा, जननी शिशु सुरक्षा , राष्ट्रीय कुष्ठ उन्मूलन, राष्ट्रीय क्षय रोग नियंत्रण, राष्ट्रीय अंधता नियंत्रण के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई।
प्रशिक्षक शैलेष पांडेय ने गृह आधारित नवजात शिशु रखरखाव, परिवार नियोजन , पोषण पुनर्वास कार्यक्रम, राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम के बारे बताया। जबकि प्रशिक्षक लवली वर्मा ने मातृ मृत्यु दर , शिशु मृत्यु दर तथा प्रजनन दर में कमी लाने के लिए लोगों को जागरूक करने का टिप्स दिया। उन्होंने एंबुलेंस सेवा 102 व 108 के बारे में भी लोगों को जागरूक करने को कहा।

पोषण को लेकर जागरूक की गईं गई किशोरियां

जिले के विभिन्न आंगनबाङी केन्द्रों पर सोमवार को लाडली दिवस मनाया गया। इस अवसर पर केन्द्रों पर किशोरियों को सही पोषण के बारे में जानकारी भी दी गई. शहर बाल विकास परियोजना अधिकारी श्रीमती विमला के निर्देशन में शहर नौतनवा के अंबेडकर वार्ड के आंगनबाङी केन्द्र पर भी लाडली दिवस मनाया गया.

 केन्द्र पर उपस्थित आंगनबाङी कार्यकर्ता विजय लक्ष्मी, स्मिता गौतम, मंजुला चौधरी ने 11 से 18 वर्ष की किशोरियों को विभिन्न बिन्दुओं पर परामर्श दिया. किशोरियों को इस अवस्था में होने वाले विभिन्न प्रकार की शारीरिक परिवर्तन तथा एनीमिया के बारे में जानकारी दी गयी.

किशोरियों को बताया गया कि माहवारी के दौरान पैड का इस्तेमाल करने से पहले तथा बाद में साबुन से हाथ अवश्य धोयें, ताकि संक्रमण से होने वाली बीमारियों से बचा जा सके. किशोरियों को एनीमिया से बचाव के लिए आयरन युक्त भोजन जैसे- हरी सब्जियां, दाल, गुड़, मूंगफली एवं आयरन की गोलियां खाने के बारे में परामर्श दिया गया. इसी प्रकार अन्य आंगनबाङी केन्द्रों पर भी लाडली दिवस का आयोजन करके किशोरियों को एनीमिया ,पोषण सहित साफ सफाई विषय पर भी जानकारी दी गई।

Leave a Comment