समाचार

‘ हम संविधान वाला आरक्षण चाहते हैं, भगवान वाला नहीं ’

गोरखपुर। निषाद पार्टी के राष्टीय अध्यक्ष डा. संजय कुमार निषाद ने कहा है कि निषादों को संवैधानिक आरक्षण चाहिए, भगवान वाला नहीं। निषाद वंशीय जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल कर उन्हें आरक्षण दिया जाए और इसके लिए एससी एसटी आरक्षण का कोटा बढाया जाय जैसा छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में किया गया है। हमें ओबीसी आरक्षण में बंटवारा नहीं चाहिए क्योंकि शासनादेश के जरिए हमें ओबीसी सूची से बाहर कर दिया गया है। मझवार और तुरैहा की पर्यायवाची जातियों को ओबीसी में शामिल कर हमें आरक्षण से वंचित किया जा रहा है। यह विसंगति दूर कर हमें अनुसचित जाति का आरक्षण दिया जाए।

आज सुबह गोरखपुर न्यूज लाइन से एक विशेष साक्षात्कार में डा. संजय निषाद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को निषाद वंशीय जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल कर आरक्षण देने का वादा पूरा करना चाहिए।

उन्होंने यह भी कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में हम सपा के साथ रहेंगे। निषादों के आरक्षण के मुद्दे पर सपा और बसपा समर्थन कर रही है। इसलिए हम उनके साथ रहेंगे। भाजपा आरक्षण विरोधी है।

निषाद पार्टी के अध्यक्ष ने कहा कि गाजीपुर की घटना के लिए भाजपा और गाजीपुर का जिला प्रशासन जिम्मेदार है। निषाद पार्टी के कार्यकर्ताओं ने हिंसा नहीं की। भाजपा कार्यकर्ताओं ने पथराव कर स्थिति बिगाड़ी। इस घटना को लेकर प्रदेश सरकार और प्रशासन निषादों पर अत्याचार कर रही है। यह बंद होना चाहिए। हम घटना की न्यायिक जांच की मांग करते हैं।

Leave a Comment