Tuesday, January 31, 2023
Homeसमाचारआरएसएस और हिन्दू युवा वाहिनी समाजद्रोही संगठन-डा. संजय कुमार निषाद

आरएसएस और हिन्दू युवा वाहिनी समाजद्रोही संगठन-डा. संजय कुमार निषाद

निर्बल इंडियन शोषित हमारा आप दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. संजय कुमार निषाद ने हिन्दू युवा वाहिनी को दंगा करने वाला और मुसलमानों, दलितों, अति पिछड़ों व निषादों पर अत्याचार करने वाला ‘ संगठित गिरोह ’ बताया

गोरखपुर, 1 अगस्त। एक सप्ताह पहले निषादों की बड़ी रैली कर चर्चा में आए निर्बल इंडियन शोषित हमारा आप दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. संजय कुमार निषाद ने आज गोरखपुर के भाजपा सांसद एवं गोरखनाथ मंदिर के महंत योगी आदित्यनाथ पर करारा सियासी हमला बोला। उन्होंने पीस पार्टी के अध्यक्ष डा. अयूब द्वारा योगी के बारे दिए गए बयान को सही ठहराते हुए समर्थन किया और हिन्दू युवा वाहिनी को दंगा करने वाला, मुसलमानों, दलितों, अति पिछड़ों व निषादों पर अत्याचार करने वाला ‘ संगठित गिरोह ’ बताया।
आज एक पत्रकार वार्ता में डा, संजय कुमार निषाद ने यह भी कहा कि ‘ गोरक्ष पीठ को निषाद वंश के घीवर परिवार में जन्में महाराजा मत्स्येन्द्र नाथ ने स्थापित किया था जिस पर बाद में मनुवादियों ने कब्जा कर लिया। ’ उन्होंने कहा कि भारत के मूल निवासियों को पीढ़ी दर पीढ़ी गुलाम बनाए रखने की साजिश और मानसिकता का नाम ही मनुवाद है। इसे किसी धर्म, जाति या साम्प्रदाय से जोड़ना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि आरएसएस और हिन्दू युवा वाहिनी समाजद्रोही संगठन है जिसके खिलाफ अति दलितों, अति पिछड़ों, निषाद समाज, मौर्य समाज और मुसलमानों ने संघर्ष का ऐलान किया है। वर्ष 2017 का विधानसभा चुनाव मूल निवासी निर्बल शोषित समाज बनाम मनुवाद के मुद्दे पर होगा जिसमें देश का बहुसंख्यक मूल निवासी समाज सदियों से शोषण करते आ रहे मनुवादियों से हिसाब मांगेगा।
डा. संजय ने कहा कि प्रदेश की 152 विधानसभा सीटों पर मछुआ समुदाय का 75 हजार से डेढ़ लाख वोट है। इतनी ही सीटों पर मुसलमान, मौर्य , राजभर समुदाय का भी वोट है जिन पर असहनीय अत्याचार हो रहा है। इस अत्याचार के खिलाफ निर्बल इंडियन शोषित हमारा आप दल, पीस पार्टी, महान दल व कई अन्य सामाजिक संगठनों ने एकजुट होकर संघर्ष करने का फैसला लिया है। विधानसभा चुनाव में हम संयुक्त रूप से भागीदारी कर पिछड़े समाज को राजनैतिक भागीदारी दिलाएंगें।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments