Wednesday, February 1, 2023
Homeसमाचारउप श्रमायुक्त कार्यालय को घेरा तब आठ महीने बाद शुरू हुई मजूदूरों...

उप श्रमायुक्त कार्यालय को घेरा तब आठ महीने बाद शुरू हुई मजूदूरों के पंजीकरण की प्रक्रिया

अखिल भारतीय खेत एवं ग्रामीण मजदूर सभा के नेतृत्व में चार दिन से उपश्रमायुक्त कार्यालय पर जारी है आंदोलन
गोरखपुर, 22 सितम्बर। जनवरी माह में आवेदन देने के बावजूद पंजीकरण से वंचित 622 मजदूरों को पंजीकरण कार्ड दिलाने की मांग को लेकर अखिल भारतीय खेत एवं ग्र्रामीण मजदूर सभा का उपश्रमायुक्त कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन आज चैथे दिन भी जारी है। मजदूरों का कहना है कि जब तक उनका कार्ड नहीं मिल जाएगा उनका आंदोलन जारी रहेगा।
खेत एवं मजदूर ग्रामीण सभा के जिला सचिव विनोद भारद्वाज ने बताया कि चरगांवा, भटहट, नौसढ़, बनकटवा, रामपुर नए गांव आदि स्थानों के 722 निर्माण मजदूरों, मनरेगा मजदूरों ने उप श्रमायुक्त कार्यालय में पंजीकरण के लिए आवेदन पत्र जमा किया था। नियम के अनुसार अधिकतम दस दिन में इन मजदूरों का पंजीकरण कर कार्ड दे देना चाहिए ताकि श्रम विभाग की योजनाओं से उन्हें लाभान्वित किया जा सके लेकिन आज तक उनका पंजीकरण नहीं हुआ। इस सम्बन्ध में मजदूर जब भी विभाग गए उन्हें टालमटोल कर लौटा दिया गया।
इससे खफा होकर खेग्रामस ने मजदूरों को एकजुट कर 19 सितम्बर से उपश्रमायुक्त कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया। पहले तो उपश्रमायुक्त एमसी शुक्ल ने धरना-प्रदर्शन से रोकने की कोशिश की लेकिन जब मजदूरों ने तेवर दिखाया तो वे ढीले पड़ गए। उन्होंने कहा कि सभी मजदूरों का विवरण आनलाइन फीडिंग का कार्य शुरू करा रहे हैं। मजदूरों ने कहा कि जब तक सभी मजूदरों के पंजीकरण की कार्यवाही नहीं पूरी हो जाती वे यहां से नहीं हटेंगे। पिछले तीन दिन में विभाग इन मजदूरों में से करीब 350 का विवरण आनलाइन फीडिंग करा चुका है। बुधवार को मजदूरों ने आफिस जाकर दबाव बनाया कि सभी काम रोक कर उनके विवरण की आनलाइन फीडिंग का काम पहले किया जाए। मजदूरों का आंदोलन आज भी जारी है। मजदूर रात में भी उपश्रमायुक्त कार्यालय परिसर में ही डेरा डाल रहे हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments