Sunday, January 29, 2023
Homeसमाचारजनपदनगर पंचायत आनन्दनगर को नगर पालिका बनाये जाने पर खुशी

नगर पंचायत आनन्दनगर को नगर पालिका बनाये जाने पर खुशी

  एक लाख ग्रामीणों को मिलेगा शहरी सुविधा का लाभ

महराजगंज। आर्दश नगर पंचायत आनन्दनगर को नगर पालिका बनाने के लिए राज्यपाल के गजट के बाद इसकी औपचारिकता मात्र ही शेष बची है। अब केवल कैबिनेट मंजूरी ही बची है। मंजूरी मिलते ही फिर से वार्डो का सीमांकन होगा । नगर पालिका के लिए क्षेत्र के कुल सत्रह गांव व चार राजस्व ग्राम लिये गये है। नगर पालिका मे कुल 25 वार्ड बनाये जायेगे।
आर्दश नगर पंचायत आनन्दनगर का निर्माण नवम्बर 1979 मे हुआ तो लोगो मे काफी खुशी हुई। दस वर्षो तक नगर पंचायत के प्रभारी उपजिलाधिकारी हुआ करते थे। दस वर्ष बीतने के बाद 1988 मे नगर पंचायत के पहले अध्यक्ष जय प्रकाश लाल चुने गये। दूसरे अध्यक्ष का चुनाव 1996 मे हुआ जिसमे सेठ विभूती राम गुप्त चुनाव जीते । तीसरे अध्यक्ष का चुनाव 2001 मे हुआ जिसमे हुमैरा खातून चेयरमैन बनी वर्ष 2006 मे अशोक जायसवाल अध्यक्ष चुने गये व 2012 मे विनोद गुप्ता चेयरमैन बने ।
नगरपालिका बनाये जाने पर जहा जनप्रतिनिधियो व लोगो मे हर्ष है वही ग्राम प्रधान मायूस भी हैं और ग्राम प्रधान अपने कार्यकाल को लेकर चितिंत है।
क्षेत्रीय विधायक विनोद तिवारी ने कहा कि क्षेत्र की जनता को बधाई है। 30 वर्षो से प्रस्ताव लटका था। उन्होने मुख्यमंत्री से मिलकर इस बारे में बताया था। सीएम की घोषणा किये जाने पर ख़ुशी जाहिर की।
नगर पंचायत के प्रथम चेयरमैन जय प्रकाश लाल ने कहा कि चेयरमैन बनने के बाद नगर पालिका का प्रस्ताव अपने कार्यकाल मे ही शासन को भेज दिया था। तीस वर्षों बाद मिली सफलता पर खुशी जाहिर की।
नगर पंचायत अध्यक्ष विनोद गुप्ता ने नगर पंचायत को नगर पालिका बनाये जाने पर मुख्यमंत्री व क्षेत्रीय विधायक विनोद तिवारी का आभार प्रकट करते हुए क्षेत्र की जनता को बधाई दी है।
ग्राम प्रधान मथुरानगर राजेश मौर्या ने कहा कि नगर पालिका बनने की खुशी तो है पर साथ ही गम भी है कि ग्राम प्रधानो के कार्यकाल को भी सरकार को ध्यान मे रखना चाहिए।
ग्राम प्रधान फरेन्दा खुर्द शकुन्तला गुप्ता ने कहा कि नगर पालिका का बनाया जाना फैसला स्वागत योग्य है पर समय के अनुकूल नही है। इससे ग्राम प्रधानो का कार्यकाल प्रभावित होगा।⁠⁠⁠⁠

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments