Sunday, January 29, 2023
Homeसमाचारनदियों के प्रदूषण से सबसे अधिक प्रभावित होता है गरीब आदमी:...

नदियों के प्रदूषण से सबसे अधिक प्रभावित होता है गरीब आदमी: विनोद मल्ल

नदी मित्र सम्मेलन में आमी नदी समेत गोरखपुर अंचल की नदियों को बचाने के अभियान को औऱ तेज करने का संकल्प 

गोरखपुर , 10 जुलाई। प्रदूषण और अतिक्रमण से जूझ रही आमी नदी समेत गोरखपुर अंचल की नदियों को बचाने के अभियान को औऱ तेज करने तथा नदियों से समाज के टूटते रिश्ते को जोडने के लिए आज आमी बचाओ मंच ने गोरखपुर प्रेस क्लब के सभागार मे नदी मित्र सम्मेलन आयोजित किया।

SAM_2802

मुख्य अतिथि के रुप मे शामिल इसी इलाके के निवासी और गुजरात के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक विनोद मल्ल ने कहा कि कि जिस बुद्ध और कबीर ने दुनिया को रास्ता दिखाया उनके यादों की गवाह आमी नदी हमारे लिए गौरव का कारण है।उन्होंने कहा कि नदियों के  प्रदूषण से गरीब आदमी सबसे अधिक प्रभावित होता है।

SAM_2796

गोरखपुर विश्व विद्यालय के समाज शात्र के उपाचार्य डा. शफ़ीक ने कहा कि नदियों के प्रदूषण एवं मरने से पलायन की पीडा समाज को झेलना होता है जिससे  हमारी भाषा सभ्यता और संस्कृतियों के नष्ट होने का खतरा पैदा होता है।वास्तव में यह सिर्फ नदी बचाने का सवाल नही बल्कि हमारी परम्परा एवं संस्कृति बचाने का सवाल है।

कार्यक्रम के आयोजक आमी बचाओ मंच के अध्यक्ष विश्व विजय ने कहा कि आमी नदी समेत इस अंचल की सभी नदियों के प्रदूषण शोषण के खिलाफ आमी बचाओ मंच संघर्ष तेज करेगा । चंद पूंजीपतियों को लाभ पहुचाने के लिए नदियों की हत्या बर्दाश्त नहीं की जा सकती । ये सिर्फ नदी बचाने की लडाई नही बल्कि अमीर और गरीब के बीच अधिकारो की भी लडाई है। गोरखपुर विश्वविद्यालय समेत सभी शैक्षणिक संस्थाओं एवं गांवों मे नदी मित्र के रुप मे नौजवानों को जोडकर नदियों के प्रदूषण शोषण के लिए जिम्मेदार संस्थाओं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड एवं सरकारों के विरुद्ध व्यापक अभियान चलाकर संघर्ष तेज किया जायेगा।कार्यक्रम को गो वि वि के राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रभारी डा. अजय शुक्ल, बायोटेकलाजी के वरिष्ठ शिक्षक शरद कुमार मिश्र, नेत्र सर्जन डा, वाई सिंह, सिविल कोर्ट बार एसोसिएशन के मंत्री जितेंद्र धर दूबे समेत बडी संख्या मे प्रधान, जिला पंचायत सदस्य एवं आमी बचाओ मंच के कार्यकर्ताओं ने अपने विचार व्यक्त किए।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments