Monday, January 30, 2023
Homeजीएनएल स्पेशलनिचलौल के सबसे पाश मुहल्ले का हाल तो देखिये

निचलौल के सबसे पाश मुहल्ले का हाल तो देखिये

-महीनों से जलनिकासी की समस्या से जूझ रहे हैं कोर्ट वार्ड के लोग

-इस वार्ड ने चार नगर पंचायत अध्यक्ष दिये हैं

निचलौल (महराजगंज), 28 जुलाई। नगर का सबसे पाश इलाका और नगर को सर्वाधिक चेयरमैन देने वाले वार्ड कोर्ट मुहल्ला बुरी तरह से जलजमाव का शिकार है।  छठ घाट सुन्दरीकरण के चक्कर में तीन महीनो से जलनिकासी की समस्या से जूझ रहे वार्डवासी नरकीय जीवन जीने को मजबूर है।जिसे लेकर लोगों में आक्रोश है।
इस वार्ड में आज भी बुनियादी सुविधाओं का अभाव है। इस मुहल्ले ने चार नगर पंचायत अध्यक्ष दिये हैं फिर भी इसकी सूरत नहीं बदली। टूटी सडक, जाम नालिया, जहां-तहा गंदगी और जलजाम ही वार्ड की पहचान है।

निचलौल नगर पंचायत

करीब तीन माह पूर्व छठघाट सुन्दरीकरण कार्य के लिये रामलीला मैदान से सटे क्षेत्रों की जलनिकासी बगैर किसी वैकल्पिक व्यवस्था के ही रोक दी गयी। इससे सैकडों घरों के जलनिकासी ठप हो गयी। पहले से ही जलनिकासी की समस्या से जूझ रहे वार्ड वासियों की समस्या को बरसात ने और भी बढ़ा दिया। जाम पडी नालियां ओवरफलो हो गईं हैं और गंदा पानी लोगों के घरो में घुसने लगा। बजबजाती नालियों से उठते दुर्गंध से राह चलना भी मुश्किल हो गया। वार्ड में संक्रामक बीमारीयों के फैलने का भी खतरा बना हुआ है।

nichlaul -coat ward

वार्डवासी मोनू कुमार सोने खां, अमित राठौर, कौशेन अली, इम्तेयाज आलम, जावेद ,लक्ष्मण ,अजीत, दीप कुमार व नौशाद आलम आदि का कहना है कि वार्ड की इस गंभीर समस्या से बेपरवाह नगर पंचायत प्रशासन महीनों बाद भी जलनिकासी की समस्या के समाधान का कोई ठोस उपाय नही कर रहा है।

सप्ताह भीतर समस्या का समाधान नही हुआ तो होगा आन्दोलन
जलनिकासी की समस्या से जूझ रहे कोर्ट वार्ड की समस्या को लेकर मंगलवार को युवा भाजपा नेता अभिषेक सिंह रानू ने कहा कि छठघाट सुन्दरीकरण के नाम पर तीन महिनों से आधे वार्ड की जलनिकासी बाधित है। नगर पंचायत प्रशासन को बरसात के इस मौसम में बगैर वैकल्पिक प्रबंध के ही लोगों के घरों का पानी रोक काम कराने की जल्दबाजी क्यो मची है समझ में नही आ रहा।उन्होने नगर पंचायत प्रशासन को चेतावनी देते हुये कहा की अगर सप्ताह भीतर समस्या का समाधान नही हुआ तो वार्डवासीयों के साथ नगर पंचायत का घेराव कर आन्दोलन किया जायेगा।जिसकी सारी जिम्मेदारी नगर पंचायत प्रशासन की होगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments