Wednesday, February 1, 2023
Homeसाहित्य - संस्कृतिपवन मिश्रा की पुस्तक "हीरो आफ बटालिक " को संसद की लाइब्रेरी...

पवन मिश्रा की पुस्तक “हीरो आफ बटालिक ” को संसद की लाइब्रेरी में मिली जगह

दुनिया की सबसे बडी लाईब्रेरी, ‘ लाईब्रेरी आफ कांग्रेस ‘ में पहले ही जगह पा चुकी है यह किताब

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने किया विमोचन
निचलौल (महाराजगंज ) , 5 मई।  ग्राम बैदौली निवासी पावन कुमार मिश्र द्वारा अपने बचपन के मित्र परमवीर चक्र विजेता कैप्टन मनोज पाण्डेय पर लिखी गयी किताब “हीरो आफ बटालिक ” को दुनिया की सबसे बडी लाईब्रेरी के बाद देश के संसद भवन मे भी जगह मिल गयी है। बुधवार को लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने संसद भवन में किताब का विमोचन किया । इसके बाद परमवीर चक्र विजेता मनोज पाण्डेय की वीरगाथा अब संसद भवन में भी पढी जायेगी।
पवन कुमार मिश्रा ने अपने बचपन के मित्र व सहपाठी परमवीर चक्र विजेता कैप्टन मनोज पाण्डेय के जीवन परिचय के साथ साथ कारगिल युद्ध का पुरा विवरण प्रस्तुत करते हुये अपने किताब में कारगिल वार 1999 के नायक कैप्टन मनोज पाण्डेय की वीरगाथा को रेखाकिंत किया है।

 

bfb113f2-ad04-42ca-9669-54f118ab8cc1

 
पवन और कैप्टन मनोज सैनिक स्कूल लखनऊ में एक साथ ही पढते थे। इण्टर के बाद आगे की पढाई के लिये दोनो एक साथ दिल्ली चले गये।यही कैप्टन सेना में चयनित हो गये और पवन एक निजी संस्थान में लेक्चरर है।कारगिल युद्ध के दौरान कैप्टन मनोज ने दर्जनो पत्र अपने मित्र को लिखा था जिसमें कारगिल वार से लेकर अपनी नीजि जिन्दगी को साझा किया था। यही नही 3 जुलाई 1999 को वीरगति को प्राप्त कैप्टन मनोज पाण्डेय का आखिरी चिट्टी उनके शहादत के अगले दिन पवन को मिली जिसने पवन को झकझोर कर रख दिया। कैप्टन मनोज पाण्डेय को उनकी 16 वीं शहादत दिवस पर पवन कुमार मिश्र ने अपनी किताब हीरो आफ वटालिक को कैप्टन को अपनी श्रद्धांजलि के रूप में समर्पित किया था।कुछ ही महीनों में आनलाइन सेल में रिकार्ड बिक्री और कैप्टन मनोज पाण्डेय की वीरगाथा से प्रभावित हो अमेरिका के वाशिंगटन शहर स्थित दुनिया के सबसे बडी लाईब्रेरी,लाईब्रेरी आफ कांग्रेस ने अपने यहां जगह दी।बुधवार को लोक सभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने तमाम संसद की मौजूदगी में किताब का विमोचन किया और इसे संसद में जगह भी दी। स्पीकर ने पवन को बधाई देते हुये कहा की शहीदों के सम्मान में समर्पित उनकी यह किताब देश के युवाओं और सेना के जवानो के प्रेरणाश्रोत है।ऐसी किताब लिखना भी अपने आप में एक बडी राष्ट्रभक्ति है। इस दौरान सांसद ददन मिश्र, पंकज चौधरी, राजेश पाण्डेय व डा०पल्वी मिश्रा आदि मौजूद रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments