Saturday, August 13, 2022
Homeसमाचारपाकिस्तान अपनी फ़िक्र करे, हमारी नहीं-असदुद्दीन ओवैसी

पाकिस्तान अपनी फ़िक्र करे, हमारी नहीं-असदुद्दीन ओवैसी

सेमरियावां जूनियर हाई स्कूल में एआईएमआईएम की बड़ी रैली 

संतकबीर नगर, 25 सितम्बर। आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने आज खलीलाबाद विधान सभा क्षेत्र के सेमरियावां जूनियर हाई स्कूल में एक बड़ी जन सभा को संबोधित किया। उन्होने ⁠⁠⁠⁠उरी आतंकी हमले को निंदनीय बताते हुए कहा कि पाकिस्तान अपने मस्जिदों और स्कूलों में होने वाले बम धमाकों को रोके। वह अपने मुल्क की फ़िक्र करें हमारी नहीं। हिंदुस्तान हमारा मुल्क है, पड़ोसी मुल्क अपनी खबर रखे।

असदुद्दीन ओवैसी ने  कहा कि देश हित के मुद्दे पर पी एम नरेंद्र मोदी की अपील पर पूरा देश एक साथ है।

6935bc53-0dde-4284-ad59-8548f3101c85

उन्होने कहा कि हिंदुस्तान से केवल आरएसएस को ही मोहब्बत नहीं है, बल्कि इस मुल्क से मुसलमानों के कई यादगार लम्हें जुड़े हुए हैं। करीब 200 साल तक राज करने वाले अंग्रेजों की गुलामी से देश को आजाद कराने के लिए मुसलमानों ने अपना खून बहाया। उलेमाओं ने अंग्रेजों के खिलाफ जिहाद छेड़ा, तब आजादी मिली। इसके बावजूद इसका श्रेय जवाहर लाल नेहरू, महात्मा गांधी, सरदार बल्लभ भाई पटेल और आजाद को मिला।

ओवैसी ने कहा कि देश के दो टुकड़े होने पर हमारे बुजुर्ग इसे अपना वतन बताते हुए जिन्ना के साथ पाकिस्तान नहीं गए। इस वफादारी के बाद भी मुसलमानों को शक की निगाह से देखा जाता है। ताजमहल, कुतुबमीनार और लालकिला जहां प्रधानमत्री तिरंगा लहराते हैं, यह सब हमारे पूर्वजों का है। मुसलमान अपनी समस्या को चुनाव के जरिये हल करें।

5f733524-1422-4a17-9a35-486d5f40535f⁠⁠⁠⁠एआईएमआईएम नेता ने अखिलेश सरकार पर जोरदार हमला बोलते हुए सत्ताधारी समाजवादी पार्टी को अजीब सियासी ड्रामा पार्टी बताया। उन्होने कहा कि जो चाचा भतीजा का नही हुआ, जो भतीजा चाचा का नही हुआ, जो बेटा बाप का नही हुआ वो प्रदेश का क्या होगा ? चाचा की मिनिस्ट्री भतीजे ने छीनी, चाचा, भतीजे की छीनने की फिराक में है और बाप बेटे को धमकी देता है कि पद से हटा दूँगा। उन्होने कहा कि समाजवादी पार्टी ने मुसलमानों से किया एक वादा भी पूरा नहीं किया।

दादरी और मुजफ्फरनगर की घटना के लिए सपा को जिम्मेदार ठहराते हुए ओवैसी ने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार जान कि कीमत लगाती है।

ओवैसी ने कहा कि सभी दलों ने मुसलमानों का वोट लिया पर विकास के नाम पर कुछ नहीं किया। भाजपा, सपा, कांग्रेस, बसपा दिल्ली में बैठकर मुसलमानों की बर्बादी की प्लानिंग करते हैं।

उन्होंने कहा कि सभी दल हमें बीजेपी का एजेंट कहते हैं पर हम तो विकास की बात करते हैं। लोकसभा चुनाव में तो हम नहीं थे फिर कैसे बीजेपी की सीट निकल गयी। सबको यह डर है कि यदि सही बात मुसलमानों की समझ में  आ गई तो उनका सफाया हो जायेगा इसीलिये बीजेपी का डर दिखाते हैं। सपा, बसपा, कांग्रेस मिलकर बीजेपी पर संप्रदायिकरण का आरोप लगाते है और बीजेपी वाले उक्त तीनो दलों पर राष्ट्रविरोधी होने का आरोप लगाते हैं। मुसलमानों इनकी सियासत को पहचानो।
उन्होने कहा कि मुझे यूपी में सभा की इजाजत नहीं दी जाती । कहा जाता है ओवैसी लोगों को भड़काता है। मैं भड़काता नहीं सच्चाई बयान करता हूं । कहते हैं ओवैसी जबान कड़वी है इसे कड़वा किसने बनाया? इस कड़वा इन दलों के जुल्मों ने बनाया। आरएसएस कहती है मुसलमानों को कब्रिस्तान व पाकिस्तान भेजों। मैं कहता हूं हमनें यहां अदल व इंसाफ के साथ हुकूमत की। मुसलमान तो वतन का तबसे वफादर है जब आरएसएस का वजूद तक नहीं था। हमें किसी के सर्टिफिकेट की जरुरत नहीं हैं।

उन्होंने जोर देकर कहा कि जब तक हिन्दुस्तान में मुसलमानों को आरक्षण नहीं मिलेगा तब तक मुसलमानों के साथ इंसाफ नहीं होगा। आज मुसलमान तालीम में कितना पीछे है उसका जिम्मेदार ओवैसी नहीं बल्कि सियासी जमातें हैं। मुसलामानों का वोट लेकर अपने परिवार का भला करने वाली सपा सरकार के शासन काल में 300 से ज्यादा दंगे हुए। आज भी मुजफ्फरनगर के पचास हजार लोग बर्बाद हैं, बेसहारा है। दादरी को एक साल हो गए क्या अख्लाक को इंसाफ मिला क्या ? अब तो उन पर मुकदमा भी लाद दिया गया ।

उन्होंने कहा कि हर चुनाव में मुसलमानों ने सबका साथ दिया चाहे इंदिरा गांधी हो राजीव या वीपी सिंह। यूपी में भी सपा, बसपा, कांग्रेस का साथ दिया लेकिन मुसलमानों को क्या मिला ? उनके बच्चों को न तालीम मिली न उनकी फसल का वाजिब पैसा मिला। उनके क्षेत्र का विकास नहीं हुआ। इसलिए मैं कहता हूँ कि मुसलमानों मुत्तहिद हो जाओ। हम आपकी आवाज बन कर आयें है। हमारी पार्टी को मौका दो।

असदुद्दीन ओवैसी के खलीलाबाद पहुँचने पर कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। ओवैसी का जिले में यह दूसरा कार्यक्रम है। इससे पूर्व अप्रैल माह में पूर्वांचल दौरा के समय कार्यक्रम हुआ था। वह यहाँ से लखनऊ लौटेंगे। चार दिन पूर्व ही उन्हें कार्यक्रम की अनुमति मिली थी। सभा में प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली, अली अहमद, तनवीर अहमद, समीर सिद्दीकी, सदरुल हक कादरी, फहद बेग आदि मौजूद रहे।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments