Thursday, February 9, 2023
HomeUncategorizedप्रॉपर्टी डीलर हत्याकांड का खुलासा, भतीजा ही निकला कातिल

प्रॉपर्टी डीलर हत्याकांड का खुलासा, भतीजा ही निकला कातिल

गोरखपुर, 23 जून। संदेह क्या न करा दे।  कुछ ऐसी ही कहानी चिलुआताल क्षेत्र में हुई प्रॉपर्टी डीलर सुरेश सिंह के मर्डर की है जिसमें चाचा ने एक वर्ष पूर्व पत्नी से अवैध सम्बन्ध रखने के सन्देह में भतीजे को सरे समाज जूतों से पीटकर बे- इज्जत किया था और यही बे-इज्ज़ती हर वक्त उसके अंदर शूल की तरह गड़ कर प्रतिशोध की अग्नि प्रदीप्त कर रही थी। जिसकी परिणीति 17/18 जून की रत में भतीजे के हाथ चाचा की मौत रही। पुलिस ने एक हफ्ते के भीतर ही मामले का खुलासा करते हुए आरोपी को मय आला कत्ल गिरफ्तार कर लिया है।

बुधवार को घटना का खुलासा करते हुए एसएसपी रामलाल वर्मा ने बताया कि इस घटना के खुलासे के लिए एस पी सिटी, सीओ गोरखनाथ के नेतृत्व में एस ओ चिलुआताल की टीम लगाई गयी थी। मृतक की पारिवारिक पृष्ठभूमि को देखते हुए पहले जाँच का दायरा वहीं से शुरू किया गया और इसमें काफी हद तक सफलता भी मिली। घटना को अंजाम देने वाले मास्टरमाइंड राहुल चौधरी को जब गिरफ्तार कर पूछताछ किया गया तो उसने बताया कि मेरे चाचा सुरेश सिंह मद्रास में नौकरी करते थे और चाची घर पर ही रहती थी जिनसे मेरे अवैध सम्बन्धो के शक में एक वर्ष पूर्व चाचा ने मुझे सार्वजनिक तौर पर बे इज्जत करते हुए जूतों से पीटा था। उसके बाद मैं लखनऊ जाकर प्रतियोगी परीक्षाओ की तयारी करने लगा।जहाँ हर वक्त मेरे जेहन में उक्त बे इज्ज़ती की प्रतिशोध की ज्वाला जलती रहती थी। गत 8 जून को मैं इसी फ़िराक में गांव आया था तो पता चला कि चाची मायके गयी है, और माता पिता भी 17 को ननिहाल जाने वाले है। योजनानुसार मैं 16 जून को लखनऊ जाकर मोबाइल साइलेंट मोड़ में चार्जर में लगाकर रात में ही गोरखपुर आ गया और पड़ोसी की छत के रस्ते घर में आकर बड़े पिता के कमरे की कुण्डी बाहर से बन्द कर दिया । उसके बाद चाचा सुरेश सिंह के कमरे में देखा तो बेसुध सोये थे। मौका देखकर मैंने वही पड़े सब्बल से उनके सिर पर तीन बार हमला किया। जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गयी।लाश को ठिकाने लगाने की नीयत से घर में ही पड़े दो जूट के बोरों को उठाकर बेड और फर्श पर लगे खून को साफ किया,फिर उसी बोरे में लाश भरकर साईकिल पर लादकर बंधे की तरफ जा रहा था कि ट्रैक्टर की रौशनी में किसी व्यक्ति ने आवाज लगा दी जिससे डर कर नदी किनारे ही साईकिल समेत लाश छोड़कर भाग गया। पुलिस ने आरोपी के निशानदेही पर घटना कारित करने में प्रयुक्त सब्बल,साईकिल और बोरा बरामद कर लिया है। उक्त घटना के खुलासे पर एसएसपी ने पुलिसकर्मियों के प्रोत्साहन स्वरूप 5000 रूपये के पुरस्कार की घोषणा की है।⁠⁠⁠⁠

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments