Friday, January 27, 2023
Homeसमाचारलोगों का इलाज कैसे हो, पीपीगंज पीएचसी पर एक वर्ष से डॉक्टर...

लोगों का इलाज कैसे हो, पीपीगंज पीएचसी पर एक वर्ष से डॉक्टर नहीं

पीपीगंज (गोरखपुर), 2 जून। पीपीगज नगर पंचायत के बार्ड न0 4 बापू नगर में स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर एक वर्ष से स्थायी चिकित्सक ही नहीं है। कामचलाऊ व्यवस्था के तहत जिस चिकित्सक को यहाँ ड्यूटी करने को कहा गया है , वह कभी-कभार ही आ पाते हैं क्योंकि उनको तीन अस्पतालों का प्रभारी चिकित्सक बना दिया गया है। पीपीगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एक महिला फार्मासिस्ट के भरोसे है।

IMG-20170702-WA0001

30 जून की सुबह 10 बजे गोरखपुर न्यूज़ लाइन ने जब  पीपीगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का जायजा लिया तो इस अस्पताल की स्थिति देख पता चला की सरकार के दावों और जमीनी हकीकत में क्या फर्क है।

सुबह 11 बजे तक 20 मरीज अस्पताल आ चुके थे। पता चला की यहाँ एक वर्ष से कोई चिकित्सक तैनात नहीं है।फार्मासिस्ट श्रीमती आर चौहान ही मरीजों को देखती हैं। आज भी मरीजों को देख रही थीं और दवा दे रहीं थी।  इस अस्पताल पर हेल्थ वर्कर शोभा चौधरी, वी एल यादव डब्ल्यू और रमेश चन्द्र मौजूद थे।

IMG-20170702-WA0003

हरपुर गांव से इलाज के लिए आईं  कमलावती ने कहा कि उन्हें सिर में दर्द है लेकिन यहाँ तो डॉक्टर ही नहीं हैं । बोलेहा के रामदेव् अपने नाती के लोकर आये हैं। यह जानकारी होने पर कि यहाँ डॉक्टर नहीं है, वह निजी अस्पताल चले गए।

हरपुर  से आये शंकर के हाथ में दिक्कत है। पीपीगंज के राम सिंह भी इलाज के लिए आये लेकिन डॉक्टर के नहीं होने पर वापस चले गए।

अस्पताल में जगह-जगह  गन्दगी दिख रही थी। अस्पताल परिसर में कई जगहों पर घास उग आए है।

IMG-20170702-WA0004
इलाज के लिए आया मरीज

गोरखपुर के सीएमओ ने पीपीगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर एक वर्ष से चिकित्सक की तैनाती नहीं होने के सवाल पर कहा कि कैम्पियरगंज के डॉ भगवान प्रसाद को कामचलाऊ व्यवस्था के तहत पीपीगंज का भी काम देखने को कहा गया है।

डॉ भगवान प्रसाद कैम्पियरगंज के  प्रभारी चिकित्सक हैं। उनका कहना है कि उन्हें तीन अस्पतालों का प्रभारी बना दिया गया है। कैम्पियरगंज के अलावा डा भगवान प्रसाद को जंगल अगही और पीपीगंज में भी मरीजों को देखने को कहा गया है। वह कहते हैं कि अकेले वह तीन -तीन अस्पतालों में मरीज कैसे देख पाएंगे। अस्पताल में गंदगी के बारे में उनका कहना था कि पीपीगंज नगर पंचायत को सफाई का काम करना चाहिए। यदि वह नहीं करेगा तो सफाई कर्मी भेज कर सफाई करायी जायेगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments