Thursday, February 9, 2023
Homeसमाचारहर जिले की एक सीट पर उतारी जायें महिला उम्मीदवार  : शोभा...

हर जिले की एक सीट पर उतारी जायें महिला उम्मीदवार  : शोभा ओझा

महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा -पीएम मोदी का महिला आरक्षण का वादा बाकी वादों की तरह धराशायी
सैयद फरहान अहमद
गोरखपुर। राहुल गांधी की देवरिया से दिल्ली तक किसान यात्रा की शुरूआत से एक दिन पूर्व अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्षा शोभा ओझा ने हर जिले से कम से कम से एक महिला उम्मीदवार को टिकट देने की पुरजोर वकालत की है। गोरखपुर में रोड शो के लिए सोमवार को पहुंची शोभा ओझा ने एक सवाल के जवाब में कहा कि हमारी कोशिश और मांग है कि जिले में कम से कम एक महिला को उम्मीदवार बनाया जायें।
एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी को चुनावी अभियान में उतारने की दीगर कांग्रेसियों की तरह हमारी भी मांग है, लेकिन यह फैसला खुद उन्हीं को लेना है।
महिला आरक्षण के सवाल पर उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के प्रयासों से ही स्थानीय निकायों में 33 फीसदी आरक्षण महिलाओं को मिला। जिसे बाद में बढ़ाकर 50 प्रतिशत कर दिया गया। यह अफसोस की बात है कि कांग्रेस के प्रयासों के बावजूद संसद और विधानसभा में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण को मंजूरी नहीं मिली। महिला कांग्रेस अध्यक्षा ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि उन्होंने महिलाओं को आरक्षण देने का वादा किया था लेकिन यह भी उनके दीगर वादों की तरह धराशायी हुआ है। जबकि संसद में भाजपा को पूर्ण बहुमत हासिल है।
उन्होंने कहा कि मोदी जी ने महंगाई, बेरोजगारी को रोकने विदेश से कालाधान वापस लाने के साथ महिलाओं की सुरक्षा का लम्बा चौड़ा वादा किया था लेकिन दो साल की सरकार के बाद भी यह वादा झूठा ही साबित हुआ। शोभा ओझा ने कहा कि आज हमारा देश इवेंट मैनेजमेंट में फंस कर रह गया है। विकास के केवल अखबारों तक सीमित है। गांव और शहरों में तरक्की दूर-दूर तक नजर नहीं आती है। कांग्रेस पार्टी महिलाओं को सम्मान और सशक्तिकरण के लिए अपनी बुनियाद से ही प्रयासरत है, लेकिन अफसोस की बात यह है कि दीगर राजनीतिक दलों ने इस बाबत कोई ठोस कदम नहीं उठाया है। कांग्रेस की 27 साल यूपी बेहाल यात्रा को प्रदेश की सच्चाई बताते हुए कहा कि इस दौरान सपा, भाजपा, बसपा की सरकारों में यूपी विकास कोसों दूर चला गया है।  प्रदेश की मौजूदा अखिलेश सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि आज महिलाएं खुद को असुरक्षित महसूस कर रही है। कानून व्यवस्था का हाल बेहाल है। इससे जनता पूरी तरह परेशान हो चुकी है और वह कांग्रेस के 27 साल पूर्व के दौर को याद करते हुए एक बार फिर उसे सत्ता में लाना चाहती है।
उन्होंने कहा कि यूपी के चुनाव में महिला कार्यकर्ता अहम रोल अदा करेंगी। वह घर-घर जाकर यूपीए सरकार द्वारा जनता के हित में लिए गए फैसलों मनरेगा, खाद्य सुरक्षा बिल व अन्य योजनाओं के बारे में बतायेंगी।
शोभा ओझा ने दावा किया कि जनता के आर्शीवाद से प्रदेश में एक बार फिर कांग्रेस का परचम लहरायेगा। इस दौरान महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय सचिव तलत अजीज व सुनीता शेरावत, यूपी प्रदेश अध्यक्ष प्रतिभा सिंह, प्रदेश कांग्रेस की प्रवक्ता डा. सुरहिता करीम, जिलाध्यक्ष प्रेमलता चतुर्वेदी आदि मौजूद रही।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments